बड़ी ख़बरें

मायावती के घर में बसपा प्रत्याशी का विरोध, सवालों का जवाब न देने पर भीड़ ने छोड़ी जनसभा

Tricity Today Correspondent


गौतमबुद्ध नगर में दादरी से बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी और विधायक सत्यवीर गुर्जर को चुनाव प्रचार के अंतिम दिन गुरूवार को तीखे विरोध का सामना करना पड़ा। विधायक प्यावली गांव में वोट मांगने गए थे। वहां गांव के युवकों ने उन्हें घेर लिया। पूछा कि आप पांच वर्ष तक कहां थे। युवक बेरोजगार घूम रहे हैं और आप कहते हैं कि नौकरी क्या मेरी जेब में रखी है। आखिर में विरोध इतना बढ़ गया कि भीड़ जनसभा छोड़कर चली गई और नेताजी हक्के-बक्के खड़े रह गए।

विधायक ने जैसे ही प्यावली गांव में बोलना शुरू किया, युवक बीच में खड़े हो गए। सवाल पूछा कि आप पांच वर्ष तक कहां रहे। हम लोग बिजली, पानी, सड़क और नौकरियों के लिए जूझ रहे हैं। आपने कोई सुध नहीं ली। इसी बीच दूसरा युवक सामने आया और उसने सवाल किया कि मैं आपके पास नौकरी लगवाने के लिए गया था, आपने अपनी जेब में हाथ डालते हुए हड़काया था कि नौकरियां क्या मेरी जेब में रखी हैं। मेरी जेब में फैक्ट्री नहीं खुली हैं।

इस पर विधायक जी उखड़ने लगे। युवकों ने हूटिंग शुरू कर दी। युवक बोले तब आप हमारी बात सुनने को तैयार नहीं थे, अब हम आपकी बात सुनने को तैयार नहीं हैं। भीड़ उठकर चली गई और विधायक जी हक्के-बक्के देखते रह गए। गौरतलब है कि बसपा सुप्रीमो मायावती इसी क्षेत्र की रहने वाली हैं। उनका गांव बादलपुर दादरी विधानसभा क्षेत्र में है। खास बात यह कि विधायक सत्यवीर गुर्जर भी बादलपुर में ही रहते हैं। सत्यवीर गुर्जर दादरी के दस वर्षों से विधायक हैं।