बड़ी ख़बरें

BREAKING: मायावती के पिता और भाई को हाईकोर्ट ने दिया नोटिस, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण से भी मांगा जवाब

Tricity Today Correspondent


ALLAHABAD: ग्रेटर नोएडा के
बादलपुर के भूमि घोटाले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के पिता प्रभु दयाल और भाई आनंद कुमार को नोटिस देकर जवाब मांगा है। साथ ही ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण के सीईओ को भी पक्ष रखने का आदेश दिया है। यह कार्रवाई ग्रेटर नोएडा के एक किसान सुशील भाटी की याचिका पर सुनवाई करते हुए की गई है।

सुशील भाटी के अधिवक्ता गौतम कुमार उपाध्याय ने बताया कि मायावती के मुख्यमंत्री रहते ग्रेटर नोएडा के बादलपुर गांव में उनके पिता प्रभु दयाल और भाई आनंद कुमार ने किसानों से 47,433 वर्ग मीटर जमीन खरीदी थी। इसके बाद यह जमीन राजस्व अधिनियम की धारा 143 के तहत दादरी के उप जिलाधिकारी ने आबादी क्षेत्र में घोषित की। बादलपुर गांव में सारी जमीन ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण ने अधिग्रहीत कर ली लेकिन इस जमीन को अधिग्रहण से मुक्त कर दिया गया।

भूमि घोटाले का आरोप लगाते हुए किसान सुशील भाटी ने याचिका दायर की है। प्राधिकरण पर भेदभाव पूर्ण नीति अपनाने का आरोप लगाया है। जमीन से आरोपियों को बेदखल करने और जिम्मेदार सरकारी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। बुधवार को सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने प्रभु दयाल, आनंद कुमार और प्राधिकरण के सीईओ को नोटिस जारी किए हैं। अगली सुनवाई पर जवाब देने का आदेश दिया है।
वहीं, इस मामले को लेकर कांग्रेसी नेता वीरेंद्र सिंह गुड्डू की एक याचिका पहले से लंबित है। अब दोनों याचिकाओं पर न्यायालय में एक साथ सुनवाई होगी।