बड़ी ख़बरें

सावधान! आॅनलाइन वीडियो देखने के नाम पर हो सकती है ठगी, 26 कंपनियां सक्रिय, कार्रवाई की तैयारी में यूपी-एसटीएफ

TricityToday Correspondent

सात लाख लोगों के साथ 3700 करोड़ रूपये की ठगी करने वाले अनुभव मित्तल को शिकंजे में कसने के बाद यूपी एसटीएफ सोशल ट्रेडिंग के नाम पर धोखा करने वाली कंपनियों की तलाश में जुटी है। दिल्ली-एनसीआर में चल रही ऐसी 26 कंपनियों के बारे में सूचनाएं मिली हैं जो सोशल ट्रेडिंग और मल्टीलेवल मार्केटिंग के नाम पर लोगों को ठग रही हैं। अब वीडियो दिखाने के नाम पर भी मेंबर बनाकर ठगने वाली कंपनियों की जानकारी जांच एजेंसियों को मिली है।

घर बैठे आॅनलाइन एक्टिविटी के जरिए पैसे कमाने का लालच आपको भारी पड़ सकता है। आपको जागरूक और सचेत रहने की जरूरत है। ऐसी कई कंपनियां सक्रिय हैं जो वीडियो देखने के नाम पर मेंबर बनाकर करोड़ों रूपये का मुनाफा कमाने का लालच दे रही हैं। ऑनलाइन वीडियो देखने के नाम पर ये कंपनियां मोबाइल पर मैसेज, व्हाट्सऐप और ई-मेल के जरिए संपर्क करती है। इस बिजनेस से जुड़े लोग आपके संपर्क में आए तो आपकों दिन में तीन से चार वीडियो रोज देखने का आॅफर दिया जाएगा।

कंपनियां लोगों को समझाती है कि वीडियो देख कर आप घर बैठे लाखों-करोड़ों कमा सकते हैं। ये आपकों एक ऐप डाउनलोड करने के लिए कहेंगे। उस पर आने वाली दो से तीन मिनट वाली वीडियो को देखने के लिए कहा जा रहा है। ये कंपनियां खुद को दुनिया भर में काम करने वाली और बहुत विश्वसनीय होने का दावा भी कर रही हैं। अपने नीचे चार से पांच लोगों को जोड़ कर मोटा पैसा कमाने का लालच दिया जा रहा है। लोग जुड़ते जाएंगे और आपकों लाखों-करोड़ों कमाने का लालच दिया जाएगा।

हो सकता है कुछ कंपनियां शुरू में 5 से 10 हजार रूपये मांगे या कुछ बिना पैसे लिए ही आपकों मेंबर बना लें लेकिन रिटर्न आपको कुछ नहीं मिलेगा। घर बैठे यूजर के तौर पर आपका इस्तेमाल जरूर हो जाएगा। ये सब कंपनियां आॅनलाइन विज्ञापन के नाम पर पैसा लूट रही हैं। नोएडा की एब्लेज इंफो साॅल्यूशन के बाद बाद वेबवर्क नाम की कंपनी भी फंस गई है। ऐसी 26 कंपनियों पर कार्रवाई की तैयारी है।