बड़ी ख़बरें

सादापुर के राजेश बैसोया ने की एक नई मिसाल कायम

Mayank Tawer

गौतम बुद्ध नगर के एक छोटे गांव में रहने वाले राजेश बैसोया अपने गांव और क्षेत्र के लिए एक मिसाल बन गए है, आइये जानते है इनके बारे में

आज गौतम बुद्ध नगर के दादरी का एक अजीब और गरीब मामला सामने आया है, दरअसल, आज एक राजेश नाम का एक व्यक्ति किसी काम से दादरी गये थे, वही 7 बजे के लगभग उन्होंने एक छोटी बच्ची को वहा घूमते देखा, राजेश बैसोया ने उस छोटी बच्ची का नाम और पता पूछा लेकिन वो लड़की कुछ नही बता पाई।

उन्होंने उस बच्ची को संबंधित धूम मानिकपुर चौकी में ले गए, और पुलिस को सौपना चाहा, लेकिन पुलिस ने व्यवस्था का बहाना बना कर लड़की को रखने से मना कर दिया।

उसी दौरान पुलिस ने राजेश बैसोया का नाम पता पूछकर उस लड़की को उनके साथ भेज दिया। राजेश ने उस बच्ची का पूरा ख्याल रखा और कुछ समय बाद चौकी से फ़ोन आने पर उस बच्ची को उसके माता पिता के हाथ सौप दिया।

आपको बता दे राजेश बैसोया एक योगा अध्यापक है। जो प्रतिदिन करीब 50 से ज्यादा बच्चों को सुबह के समय मुफ्त में योगा, खेल कूद, और बहुत सी शारीरिक शिक्षा देते है, जबकि आज के इस समय मे माता पिता के पास आपने बच्चों के लिए समय नही निकाल पाते वही राजेश बैसोया अपने गांव के किसी भी बच्चे को शारीरिक शिक्षा देने से पीछे नही हटते।