बड़ी ख़बरें

किसानों की मांगो को लेकर की एक दिवसीय भूख हड़ताल

Tricity Today Correspondent

19 जून को संयुक्त किसान अधिकार आंदोलन के बैनर तले बहुत से सामाजिक संगठनों और क्षेत्र के किसानों द्वारा ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण व सरकार के खिलाफ 4 प्रतिशत विकसित भूखण्ड, आबादी और रोजगारो की मांग को लेकर एक दिवसीय सांकेतिक भूख हड़ताल की।

इस बड़े किसान आंदोलन में अखिल भारतीय किसान सभा, अखिल भारतीय गुर्जर परिषद, भारतीय किसान यूनियन, प्रगतिशील जन आंदोनल, जय जवान जय किसान मोर्चा, क्राइम फ्री इंडिया आदि सामाजिक और राजनैतिक दल भी शामिल थे।

अखिल भारतीय गुर्जर परिषद के प्रदेश अध्यक्ष रविन्दर भाटी के नेतृत्व में सैनी और तिलपता के किसान भूख हड़ताल पर बैठे। अजय चौधरी के नेतृत्व में शिक्षा अधिकार आंदोलन के साथी किसानों के साथ जैतपुर वेसपुर गांव में भूख हड़ताल पर बैठे। 

डॉ. रूपेश वर्मा बिसरख ब्लॉक के गांवों में भूख हड़ताल पर बैठे, अमित पहलवान दनकौर ब्लॉक और सुनील फौजी दादरी ब्लॉक के गांवों में बैठकर भूख हड़ताल की। मास्टर रणवीर सिंह भाटी के नेतृत्व में मायचा गांव में लोगो के साथ मिलकर एकदिवसीय भूख हड़ताल की।

गंगेश्वर दत्त शर्मा के नेतृत्व में CITU के कार्यकर्ता ने किसानों की मांगो को लेकर जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया। मोनू गुर्जर तुगलपुर ने अपने गांव तुगलपुर और हल्दोना गांव में बैठकर भूख हड़ताल की।

जगबीर नम्बरदार ने बदलापुर गांव में किसानों के साथ मिलकर एक दिवसीय भूख हड़ताल की। इस मौके पर संयुक्त किसान आंदोलन के अध्यक्ष जगबीर नम्बरदार ने कहा कि जब तक सरकार और प्राधिकरण किसानो की मांगों को पूरा नही करेगी तब तक यह आंदोलन जारी रहेगा, उन्होंने कहा कि 5 जुलाई की ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के गेट पर होने वाली महापंचायत पर पहुँच कर आंदोलन को मजबूत करने का कार्य करे।

इस एक दिवसीय भूख हड़ताल पर मुख्य रूप में कपिल गुर्जर, महेश भाटी, कमांडो अशोक, हरेन्दर खारी, श्यामवीर मावी, वीर सिंह, बिजेन्दर सिंह प्रगतिशील जन आंदोलन, राजकुमार बैसला, मोनू गुर्जर, मनोज चौधरी, विपिन खारी तिलपता, हैप्पी पंडित, विकाश गुर्जर, महेन्दर नागर आदि लोग मौजूद थे।