बड़ी ख़बरें

भाजपा के आने पर गौतम बुद्ध नगर में हुआ विकास का विनाश

Mayank Tawer

उत्तर प्रदेश जिला गौतम बुद्ध नगर का ग्रेटर नोएडा देश की खूबसूरत शहर में से एक है, करीब 12 वर्षों से गौतम बुद्ध नगर तेजी से विकास की राह पर है, लेकिन भाजपा सरकार के आने पर विकास की गति धीमी नही बल्कि उल्टी दिशा में चल पड़ी है।

गौतम बुद्ध नगर की सड़कों को देश की सबसे अच्छी सड़को में गिनी जाती थी, जहाँ कई किलोमीटर दूर तक एक भी गढ़हे नही दिखाई देते थे, तो आज जी टी रोड, डीएससी रोड व दादरी - नोएडा, नोएडा - कासना रोड पर गढ़ों की गिनती करना आसान नही है।

दरअसल, जिला गौतम बुध नगर कलेक्ट्रेट बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष अधिवक्ता अतुल शर्मा ने अपनी फेसबुक सोशल मीडिया पर गौतम बुध नगर की सड़कों की तस्वीर को पोस्ट किया है जिसमे दिख रहा है की 

1. कलेक्ट्रेट सूरजपुर से मॉज़रबेयर कम्पनी को जाते वक्त काफी ज्यादा सड़के टूटी हुई है, २. सिरसा  गोल चक्कर की टूटी सड़के, 3. गिरधरपुर गांव से पहले टूटी सड़के, यह वो सड़के है जो ग्रेटर नोएडा की मुख्य सड़के है। 

यातायात परिवहन उठा रहा है सरकार की कमी का बड़ा फायदा

यह ग्रेटर नोएडा में P3 के पास सर्विस रोड की फोटो है जहां गाड़ी चालक टूटे-फूटे सर्विस रोड से बचने के लिए रॉन्ग साइड चलते हैं और पुलिस चालान काट देती है फिर भी लोग रॉन्ग साइड चलते है, यह प्रक्रिया पिछले 3 महीनों से चलती आ रही है लेकिन सरकार कानों में उंगली डाले बैठी है।

वहीं दूसरी ओर एडवोकेट अतुल शर्मा ने अपनी सोशल मीडिया फेसबुक से बयां किया है कि गौतम बुद्ध नगर जिले की सबसे महत्वपूर्ण जगह कलेक्ट्रेट, सिविल कोर्ट, जिलाधिकारी कार्यालय, एसएसपी ऑफिस के आसपास जहां सबसे ज्यादा सफाई रहनी चाहिए वहीं सबसे ज्यादा गंदगी मिलती है ऐसा लगता है कि यह सारा कूड़ा कलेक्ट्रेट ऑफिस से ही रोज निकलता है। अगर सरकार ने सफाई अभियान चलाया था तो जिले के सबसे महत्वपूर्ण जगह पर सफाई क्यों नहीं.....