बड़ी ख़बरें

एनजीटी के आदेश पर प्राधिकरण ने बंद कराया निर्माण

TricityToday Correspondent

ग्रेटर नोएडा: नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के आदेश पर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने अपने क्षेत्र में चल रहे सभी तरह के निर्माण कार्यों को बंद करवा दिया है। सात दिन तक सभी निर्माण कार्य और खुदाई बंद रहेगी। वहीं एनजीटी ने मुख्य कार्यपालक अधिकारी को तलब किया है। आज एनजीटी में सुनवाई होगी।

 

दीवाली के बाद से दिल्ली एनसीआर में ‘स्मॉग’ छाया हुआ है। प्रदूषण से भी रिकॉर्ड तोड़ दिए है। प्रदूषण को गंभीरता से लेते हुए एनजीटी ने मंगलवार को सात दिन तक सभी तरह के निर्माण कार्य, क्रेशरों को बंद कराने का आदेश दिया है। साथ ही कहीं पर भी कचरा नहीं जलाया जाएगा। संबंधित प्राधिकरण और प्रशासन को इसका पालन कराना है। एनजीटी ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ को तलब किया है और प्रदूषण की रोकथाम पर रिपोर्ट मांगी है। एनजीटी के आदेश के बाद ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने अपने सभी निर्माण कार्य बंद करा दिए है। साथ ही बिल्डरों के भी निर्माण कार्य को बंद करा दिया गया है। मिट्टी और बेसमेंट की खुदाई को भी बंद कराया गया है। अफसरों का कहना है कि प्रदूषण करने वालों पर कार्यवाही की जा रही है। जो लोग कचरा या आग लगा रहे है, उन पर जुर्माना लगाया जा रहा है। सभी बिल्डरों को नोटिस जारी कर सूचना दे दी गई है। 

 

‘एनजीटी के आदेश का पालन कराया जा रहा है। 20 लोगों पर जुर्माना भी लगाया है। बुधवार को सुनवाई है। प्राधिकरण अपना जवाब दाखिल करेगा।’

दीपक अग्रवाल, मुख्य कार्यपालक अधिकारी, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण