बड़ी ख़बरें

चाय पर शादी, न कोई बैंड, न बाजा और न दहेज

Tricity Today Correspondent/Greater Noida

 

ग्रेटर नोएडा के दो परिवारों ने बड़ी मिसाल कायम की है। अब तक आपने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चाय पर चर्चा वाली राजनीति सुनी होगी, लेकिन रविवार को शहर में चाय पर एक शादी हुई है। सेक्टर सिग्मा वन से महज दो किलोमीटर दूर नटों की मडैया गांव में बाराती दूल्हा लेकर पहुंचे। दुल्हन के घर केवल चाय पी और शादी करके दूल्हन को विदा कर लाए। महज दो घंटों के रश्म और रिवाज के बाद लड़की को विदा कर दिया गया। दोनों परिवार बेहद खुश हैं। वहीं, यह शादी पूरे इलाके में चर्चा का विषय बन गई है।

 

नटों की मडैया गांव के रहने वाले महावीर सिंह की बेटी संजू की रविवार को बारात पहुंची। बारात में दूल्हे योगेश के साथ 40 बाराती थे। योगेश मूल रूप से अलीगढ़ के बड़ा गांव के निवासी हैं। ग्रेटर नोएडा के सेक्टर सिग्मा वन में रहते हैं। बारातियों ने महावीर सिंह के घर केवल चाय पी। दूसरी ओर महिलाओं ने मंगल गीत गाए और सारी रश्में पूरी कीं। संजू और योगेश ने एक-दूसरे को जय माला पहनाईं। बाराती मोटर साइकिलों पर सवार होकर गांव में पहुंचे थे। योगेश के घर से संजू का घर बमुश्किल दो किलोमीटर दूर है।

 

 

करीब दो घंटों में सारी रश्में और रिवाज पूरे हो गए। इसके बाद दूल्हा और दुल्हन के फेरे करवाए गए। योगेश शाम को संजू को विदा करके अपने घर ले आया। दोनों परिवार बहुत खुश हैं। संजू और योगेश भी बहुत खुश हैं। योगेश कहता है कि जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी चाय पर चर्चा करके सरकार बना सकते हैं तो क्या हम शादी भी नहीं कर सकते हैं।

 

हम दोनों शादी से बहुत खुश हैं। न कोई भीड़, न खर्च और न किसी तरह का तामझाम हुआ है। मैं कंपनी में छोटी सी नौकरी करता हूं। संजू के पिताजी भी सामान्य ग्रामीण हैं। हम लोगों ने केवल उनके घर चाय पी है। कोई दहेज नहीं लिया। संजू बहुत अच्छी लड़की है। अब वह मेरी जीवन साथी है। उसकी और उसके परिवार की खुशियों का ख्याल रखना मेरी जिम्मेदारी है। अगर वह कर्ज लेकर शादी में बर्बाद करते तो संजू और उसके पिता दुखी होते। उसका मुझे भी दुख होता। मैं तो गरीब, अमीर और मध्यम वर्ग से अपील करता हूं कि शादी को बर्बादी नहीं बनाइये।
योगेश, दूल्हा