बड़ी ख़बरें

भाजपा जिला नेतृत्व ने बगियों के सामने घुटने टेके या चल रहा है प्रायोजित कार्यक्रम

Tricity Today Correspondent/Noida

 

भारतीय जनता पार्टी में पिछले कुछ दिनों से बवाल चल रहा है। कई नेता पार्टी और बड़े नेताओं के खिलाफ खुलेआम भाषण दे रहे हैं। सोशल मीडिया पर पोस्ट डाल रहे हैं। ऐसे आचरण के लिए युवा मोर्चा के पूर्व जिलाध्यक्ष अतुल शर्मा को छह वर्षों के लिए निष्कासित कर दिया गया था। भाजपा के पूर्व जिला उपाध्यक्ष अनिल पंडित और कपिल गुर्जर पर निलंबन की गाज गिरी थी। अब सवाल यही उठता है कि आखिर इन बागियों पर कार्रवाई क्यों नहीं हो रही है?

 

जेवर से भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार रह चुके सुंदर सिंह राणा अपने समर्थकों गोपाल रावल और करन ठाकुर के साथ खुलेआम पार्टी की गलत नीतियों का विरोध कर रहे हैं। केंद्रीय मंत्री डा.महेश शर्मा पर ठाकुर बिरादरी की उपेक्षा करने, ठाकुर बाहुल्य गांवों में विकास कार्य नहीं करवाने और युवकों को रोजगार नहीं दिलाने के आरोप लगा रहे हैं। इसी तरह अतुल शर्मा और अनिल पंडित ने ब्राह्मणों की उपेक्षा करने और कपिल गुर्जर ने अपनी बिरादरी के खिलाफ अभद्र भाषा का उपयोग करने का आरोप सांसद पर लगाया था।

 

जिलाध्यक्ष विजय भाटी ने तीनों नेताओं को अनुशासनहीनता, पार्टी के खिलाफ आचरण करने और बड़े नेताओं पर आरोप लगाने के लिए निष्कासित और निलंबित किया। अब सवाल खड़ा हो रहा है कि आखिर ठाकुर नेताओं पर जिलाध्यक्ष कार्रवाई क्यों नहीं कर रहे हैं। वहीं, दादरी के भाजपा नेता मनोज मूली ने तो सोमवार को केंद्र सरकार की नोटबंदी नीति के खिलाफ प्रदर्शन किया है।

 

क्या नवाब सिंह नागर के खिलाफ चल रही है साजिश
भाजपा के एक बड़े नेता ने कहा, यह सब प्रायोजित कार्यक्रम है। जो जानबूझकर चलाया जा रहा है। दरअसल, जो लोग नवाब सिंह नागर को विधायक और मंत्री नहीं देखना चाहते हैं, वे ऐसा कर रहे हैं। इसी कारण एकाएक सुंदर राणा मैदान में आकर खड़े हो गए हैं। सीधे पार्टी को चुनौती दे रहे हैं कि अगर उन्हें टिकट नहीं दिया गया तो ठाकुर बिरादरी भाजपा को वोट देने से पहले विचार करेगी। अपना विरोध जाहिर करने और टिकट की दावेदारी करने की नीयत से बिसाहड़ा में दो दिन पहले ठाकुरों की पंचायत की गई थी। यही वजह है कि भाजपा जिलाध्यक्ष दम साधकर चुप बैठे हैं। सब जानते हैं कि सुंदर सिंह राणा को किसका आशीर्वाद प्राप्त है।

 

मैं अपनी समिति में मुद्दा रखकर राय मांगूगाः जिलाध्यक्ष
इस मसले पर जिलाध्यक्ष विजय भाटी सीधे तौर पर बोलने से बच रहे हैं। उनका कहना है कि सुंदर सिंह राणा से बात की जाएगी। वह अपने लिए चुनावी माहौल बना रहे हैं। मैं अपनी समिति के सामने यह मसला रखूंगा, जो राय बनेगी उसके मुताबिक आगे की कार्रवाई की जाएगी। अगर समिति कहेगी कि कार्रवाई होनी चाहिए तो करेंगे।