बड़ी ख़बरें

इन तीन सीटों को लेकर मचा है घमासान, जानिए कौन किसके लिए मांग रहा है टिकट

Tricity Today Correspondent/Noida


उत्तर प्रदेश में चुनाव के लिए मंगलवार की सुबह से विधिवत प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। मंगलवार को पहले चरण के लिए नामांकन का पहला दिन है। लेकिन पहले फेज की तीन सीटों नोएडा, साहिबाबाद और कैराना के लिए सोमवार को आई सूची में उम्मीदवारों के नाम नहीं हैं। दरअसल, इन सीटों पर मौजूदा सांसद अपने परिजनों के लिए टिकट मांग रहे हैं। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कह चुके हैं कि सांसद अपने परिजनों के टिकटों की पैरवी नहीं करें।

 

नोएडा में अभी भाजपा की विधायक बिमला बाथम हैं। सांसद डा.महेश शर्मा ने 2014 में सांसद बनने के बाद यह सीट खाली की थी। अब डा.महेश शर्मा नोएडा से अपनी पत्नी या भाई को चुनाव लड़ाना चाहते हैं। इस कारण नोएडा विधानसभा सीट का टिकट पार्टी ने घोषित नहीं किया है। हालांकि, जेपी नड्डा ने प्रेस कांफ्रेंस में बताया है कि इस सीट के लिए मंगलवार को टिकटों की घोषणा की है।

 

दूसरी सीट नोएडा की सीमावर्ती और गाजियाबाद जिले की साहिबाबाद सीट है। यहां से गृह मंत्री राजनाथ सिंह के बड़े बेटे पंकज सिंह दावोदार हैं। साहिबाबाद से अभी बहुजन समाज पार्टी के विधायक अमरपाल शर्मा हैं। एक नाटकीय घटनाक्रम के तहत अमरपाल शर्मा को बसपा सुप्रीमो मायावती ने अमरपाल शर्मा ने बर्खास्त कर दिया है।

 

शामली जिले की कैराना सीट से भी टिकट की घोषणा नहीं की गई है। कैराना लोकसभा सीट से भाजपा के वरिष्ठ नेता बाबू हुकुम सिंह सांसद हैं। वह कैराना विधानसभा सीट से अपनी बेटी के लिए टिकट मांग रहे हैं। मुजफ्फरनगर दंगे के दौरान और बाद में बाबू हुकुम सिंह ने बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। जिसकी बदौलत भाजपा को पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जाट बाहुल्य इलाके में बड़ कामयाबी मिली थी।