बड़ी ख़बरें

सुरेंद्र नागर नहीं चाहते सपा का कोई उम्मीदवार जीतेः रविंद्र भाटी

Tricity Today Correspondent/Greater Noida


कभी समाजवादी पार्टी तो कभी राष्ट्रीय लोकदल के बीच इधर-उधर घूम रहे दादरी से उम्मीदवार रविंद्र भाटी ने राज्यसभा सांसद सुरेंद्र नागर पर जमकर भड़ास निकाली। रविंद्र भाटी ने ग्रेटर नोएडा प्रेस क्लब में प्रेस कांफ्रेंस करके कहा, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और राज्य सभा सांसद सुरेंद्र नागर पार्टी के खिलाफ षड़यंत्र रच रहे हैं। वह नहीं चाहते कि गौतमबुद्ध नगर में सपा का कोई उम्मीदवार जीते। रविंद्र भाटी ने सुरेंद्र नागर पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। सुरेंद्र नागर के शोषण के कारण पार्टी छोड़ रहा हूं।

 

रविंद्र भाटी को शिवपाल यादव ने करीब दो महीने पहले दादरी से प्रत्याशी घोषित किया था। आपसी तकरार के बाद सपा की कमान अखिलेश यादव के हाथों में आई तो सपा की नई सूची से रविंद्र भाटी का नाम गायब हो गया। आनन-फानन में रविंद्र भाटी ने रालोद के दरवाजे पर दस्तक दी और उन्हें रालोद से टिकट दे दिया गया। लेकिन अगले ही दिन रविंद्र को एक काॅल आई और बताया गया कि उन्हें मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लखनऊ बुलाया है। दोबारा टिकट दिया जा रहा है।

 

रविंद्र ने बताया कि यह सब साजिश के तहत किया गया था। सुरेंद्र नागर को जानकारी थी कि सपा और कांग्रेस का गठबंधन हो रहा है। दादरी सीट कांग्रेस को दी जा रही है। इसके बावजूद उन्होंने मुझे फोन करके बताया कि तुम्हें टिकट दोबारा दिया जा रहा है। मुझे लखनऊ बुला लिया ताकि मैं रालोद का टिकट नहीं ले सकूं। रविंद्र ने आरोप लगाया कि सुरेंद्र सिंह नागर कार्यकर्ताओं का शोषण कर रहे हैं। वह सारी पार्टियों में अपने रिश्ते बनाकर रखते हैं। उनका मकसद सपा को बढ़ाना नहीं है, वह अपना कारोबार चला रहे हैं। सुरेंद्र नागर नहीं चाहते कि गौतमबुद्ध नगर में समाजवादी पार्टी का कोई उम्मीद जीते।