बड़ी ख़बरें

दो मासूम बच्चों की गवाही पर भाजपा स्टार प्रचारक के बहनाई के हत्यारे को हुई सजा

Tricity Today Correspondent/Greater Noida


गौतमबुद्ध नगर जिला न्यायालय ने सात साल और पांच साल के दो मासूम बच्चों की गवाही को ठोस आधार मानते हुए उनके पिता के हत्यारोपी को दोषी करार दिया है। आजीवन कारावास की सजा और 50 हजार रुपये का आर्थिक दंड लगाया है। यह बच्चा भाजपा के स्टार प्रचारक पूर्व राज्यसभा सांसद नरेंद्र कश्यप का भांजा है। नरेंद्र कश्यप के बहनाई की करीब छह वर्ष पूर्व हत्या कर दी गई थी।

 

इस हत्याकांड की सुनवाई गौतमबुद्ध नगर के स्पेशल जज (एससी-एसटी) बीके सिंह ने की। वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी दयाशंकर राम त्रिपाठी ने बताया कि 23 अगस्त 2011 को नोएडा के फेस दो में सुनील कश्यप की गला घोंटकर हत्या कर दी गई थी। घटना के दौरान उसका सात वर्षीय बेटा मयंक और पांच वर्षीय बेटी वर्षा घर पर ही थे। सुनील के साथ बैठकर पहले आरोपी विक्की ने चाय पी थी। इसके बाद उसने रंजिशन सुनील की हत्या कर दी थी। घटना की रिपोर्ट सुनील की पत्नी और भाजपा के स्टार प्रचारक पूर्व राज्यसभा सासंद नरेंद्र कश्यप की बहन पूनम कश्यप ने दर्ज कराई थी।


पूनम नोएडा विकास प्राधिकरण में नौकरी करती हैं। जांच के दौरान विक्की के खिलाफ साक्ष्य मिले। इसके बाद पुलिस ने गाजियाबाद के रहने वाले विक्की को गिरफ्तार कर लिया था। मामले में कुल आठ गवाह पेश हुए। दो गवाह आरोपी विक्की की तरफ से भी पेश हुए। लेकिन दोनों की गवाही को न्यायालय ने नहीं माना। कोर्ट ने सुनील कश्यप के दोनों छोटे-छोटे बच्चों की गवाही के आधार पर आरोपी विक्की को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। एसपीओ ने बताया कि जो आठ गवाह अभियोजन पक्ष की तरफ से पेश किए गए थे, सभी गवाहों ने आरोपी के खिलाफ गवाही दी है। दोनों बच्चों की गवाही को न्यायालय ने सबसे महत्वपूर्ण माना है।