बड़ी ख़बरें

Republic Day Special: मिशन अफगानिस्तान के लिए भारतीय सेना ने दी थी अमेरिकी सैनिकों को ट्रेनिंग

TricityToday Correspondent


दुनिया की चुनिंदा सेनाओं में भारतीय सेना को स्थान दिया जाता है। कई ऐसे तथ्य हैं, जिनके बारे में आपको जानकारी नहीं होगी। सामान्यतः लोग सेना को केवल सीमा सुरक्षा और युद्ध से बचाने का एक माध्यम भर मानते हैं। लेकिन हकीकत में भारतीय सेना एक बड़ा और महान संस्थान है। जिसने न केवल विश्व कीर्तिमान स्थापित किए हैं बल्कि अमेरिका, रूस और ब्रिटेन की सेनाओं के लिए भी प्रशिक्षक के रूप में काम कर रही है।

भारतीय सेना का हाई एल्टिट्यूड वाॅरफेयर स्कूल (एचएडब्ल्यूएस) दुनिया में उच्चतम श्रेणी में शामिल है। अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि यहां अमेरिका, रूस और ब्रिटेन की सेना भी प्रशिक्षण लेती हैं। अफगानिस्तान में अमेरिकी सेना को भेजने से पहले यहीं प्रशिक्षण दिया गया था। भारत और पाकिस्तान की सीमा पर वर्ष 1984 के बाद से लगातार सेना की उपस्थिति है। यह दुनिया की ऐसी अकेली सीमा है, जहां 6000 मीटर की ऊंचाई पर भी मोर्चेबंदी है। वैसे तो भारतीय सेना में सेवाएं देना स्वैच्छिक है। लेकिन भारतीय संविधान में इसे भारतीय नागरिकों के लिए जरूरी भी बनाया गया है। हालांकि, संविधान का वह अनुच्छेद अभी तक कभी लागू नहीं किया गया है।