मोदी के सांसद डॉ.सत्यपाल ने 66 की उम्र में किया ऐसा योग, युवाओं के उड़े होश

BAGHPAT VIDEO : मोदी के सांसद डॉ.सत्यपाल ने 66 की उम्र में किया ऐसा योग, युवाओं के उड़े होश

मोदी के सांसद डॉ.सत्यपाल ने 66 की उम्र में किया ऐसा योग, युवाओं के उड़े होश

Tricity Today | सांसद डॉ.सत्यपाल

मोदी के सांसद डॉ.सत्यपाल ने 66 की उम्र में किया ऐसा योग, युवाओं के उड़े होश BAGHPAT : आज पूरे देश में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। इसी बीच उत्तर प्रदेश के बागपत से एक वीडियो सामने आया है। जिसमें बागपत के सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉक्टर सतपाल सिंह योग करते हुए दिखाई दे रहे हैं। उनके योग को देखकर युवाओं के होश उड़ गए। सतपाल सिंह इस समय 66 वर्ष के हैं और इस उम्र में उन्होंने बेहद शानदार तरीके से योग किया है। अब उनका योग करते हुए का वीडियो काफी तेजी के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसको देखकर युवाओं के होश उड़ गए हैं। ऐसा योग इस उम्र में करना काफी बड़ी बात है। हाथ के बल चलकर किया योगासन
सांसद सतपाल सिंह की वीडियो काफी तेजी के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। जिसमें दिख रहा है कि वह इंटरनेशनल योग डे पर योगासन कर रहे हैं। वह हाथ के बल चल कर योग कर रहे हैं। इस कार्यक्रम का आयोजन जनता वेदिक डिग्री कॉलेज में किया गया। जिसमें बाग के डीएम कमल यादव ने भी हिस्सा लिया।

मुम्बई के पुलिस कमिश्नर थे सत्यपाल सिंह
सत्यपाल सिंह भारत की सोलहवीं लोकसभा के सांसद हैं। वर्ष 2014 के चुनावों में सत्यपाल सिंह पहली बार उत्तर प्रदेश की बागपत सीट से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़कर निर्वाचित हुए। सत्यपाल सिंह लोकसभा चुनाव लड़ने से पहले मुम्बई के पुलिस कमिश्नर थे, लेकिन लोकसभा चुनाव से कुछ समय पहले अपने पद से इस्तीफा देकर बीजेपी जॉइन कर ली। लोकसभा चुनाव में अजित सिंह को हराकर विजयी प्राप्त की। 

मुंबई पुलिस कमिश्नर रूप में किए शानदार कार्य
सत्यपाल सिंह महाराष्ट्र कैडर और 1980 बैच के सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी हैं। सत्यपाल की पहली पोस्टिंग नासिक के सहायक पुलिस अधीक्षक के रूप में हुई थी। इसके बाद वह बुलढाणा के पुलिस अधीक्षक बने। मुंबई पुलिस प्रमुख नियुक्त किए जाने से पहले, सत्यपाल महाराष्ट्र के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक थे। उन्होंने मुंबई में संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) के रूप में भी काम किया है। मुंबई के अपराध प्रमुख के रूप में उनके कार्यकाल के दौरान, उन्हें संगठित अपराध सिंडिकेट्स की रीढ़ तोड़ने का श्रेय दिया जाता है, जिन्होंने 1990 में मुंबई को आतंकित किया था, जिसमें छोटा राजन, छोटा शकील और अरुण गवली गिरोह शामिल थे।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.