भाजपा को बड़ी कामयाबी, डॉ.अंतुल तेवतिया निर्विरोध जिला पंचायत अध्यक्ष बनीं

बुलंदशहर BREAKING : भाजपा को बड़ी कामयाबी, डॉ.अंतुल तेवतिया निर्विरोध जिला पंचायत अध्यक्ष बनीं

भाजपा को बड़ी कामयाबी, डॉ.अंतुल तेवतिया निर्विरोध जिला पंचायत अध्यक्ष बनीं

Tricity Today | डॉ.अंतुल तेवतिया

भाजपा को बड़ी कामयाबी, डॉ.अंतुल तेवतिया निर्विरोध जिला पंचायत अध्यक्ष बनीं Bulandshahr Jila Panchayat Chunav : भारतीय जनता पार्टी को जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए हो रहे चुनाव में बड़ी कामयाबी मिली है। बुलंदशहर में भी जिला पंचायत अध्यक्ष पर बीजेपी (Bhartiya Janta Party) उम्मीदवार का निर्विरोध निर्वाचन तय है। दरअसल, विपक्ष की ओर से नामांकन दाखिल नहीं किया गया है। जिसके चलते भाजपा की उम्मीदवार डॉ.अंतुल तेवतिया को निर्विरोध अध्यक्ष घोषित किया जाएगा। यह घोषणा जिला निर्वाचन अधिकारी 29 जून को करेंगे।

कौन हैं अंतुल तेवतिया
अंतुल तेवतिया बुलंदशहर में गुलावठी कस्बे की रहने वाली हैं। उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि भारतीय जनता पार्टी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ी हुई है। उनके पिता चौधरी राजेंद्र सिंह आरएसएस के विभाग प्रचारक थे। अंतुल तेवतिया की मां भी स्त्री रोग विशेषज्ञ हैं। अंतुल की उम्र 35 वर्ष है और वह एमबीबीएस एमएस डॉक्टर हैं। गुलावठी कस्बे में ही उनका प्राइवेट अस्पताल है। पति अनीश तेवतिया मेडिकल बिजनेस से जुड़े हुए हैं। उनके दुबई और आर्मेनिया में प्राइवेट हॉस्पिटल हैं।

यह है जिला पंचायत का गणित
बुलंदशहर जिला पंचायत पश्चिम उत्तर प्रदेश की सबसे बड़ी जिला पंचायत है। यहां 52 सदस्य हैं। इनमें से भारतीय जनता पार्टी को केवल 10 जिला पंचायत सदस्य जिताने में कामयाबी मिल पाई थी। समाजवादी पार्टी के 11 सदस्य हैं और राष्ट्रीय लोकदल को 6 सदस्य जिताने में सफलता मिली थी। इस तरह सपा-रालोद गठबंधन के पास 17 वोट थीं। बड़ी बात यह है कि 25 जिला पंचायत सदस्य निर्दलीय हैं। अध्यक्ष पद के लिए 27 सदस्यों का समर्थन जरूरी था। सपा-रालोद गठबंधन को केवल 10 सदस्यों के समर्थन की दरकार थी। जबकि भाजपा को बहुमत तक पहुंचने के लिए 17 उम्मीदवार चाहिए थे। भाजपा ने लगभग सभी निर्दलीय जिला पंचायत सदस्यों को अपने पाले में खींच लिया। जिसके चलते समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल के पास बहुमत नहीं रह गया था।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.