पहली बरसात में ढही बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की दीवार, ग्रामीणों ने कहा- काम के नाम पर सिर्फ लीपा पोती की गई

बड़ी खबर : पहली बरसात में ढही बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की दीवार, ग्रामीणों ने कहा- काम के नाम पर सिर्फ लीपा पोती की गई

पहली बरसात में ढही बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की दीवार, ग्रामीणों ने कहा- काम के नाम पर सिर्फ लीपा पोती की गई

Google Image | Bundelkhand Expressway

पहली बरसात में ढही बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की दीवार, ग्रामीणों ने कहा- काम के नाम पर सिर्फ लीपा पोती की गई Bundelkhand : अभी हाल ही में देश के प्रधानमंत्री द्वारा नवनिर्मित बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का उद्घाटन जनपद जालौन से किया गया है। ऐसा माना जा रहा है कि बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे बुंदेलियों की बंद किस्मत का ताला खोलेगा और विकास तथा समृद्धि के नए आयाम लिखेगा परंतु बुंदेलियोँ की बंद किस्मत का ताला कब खुलेगा यह तो पता नहीं, लेकिन कार्य निर्माण की गुणवत्ता की पोल जरूर खुल गई है। 
     
पूरा मामला बांदा मुख्यालय से चहितारा गांव को जाने वाली सड़क में अंडर पास के पास बने ब्रिज की दीवार ढह जाने का है। ग्रामीणों ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि अंडर पास ब्रिज के पास बनी दीवार ढह गई है। कार्य में गुणवत्ता बिल्कुल नहीं है। काम के नाम पर सिर्फ लीपा पोती की गई है। जिसके परिणाम स्वरूप यह दीवार ढह गई है। ग्रामीणों को वारिस के मौसम में आवागमन में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार का यह ड्रीम प्रोजेक्ट है इसमें गुणवत्ता विहीन कार्य जल्दबाजी में किया गया है। प्रदेश सरकार इस ओर ध्यान देना चाहिए और मानक विहीन कार्य की समय रहते जांच करवाते हुए दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही करना चाहिए।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.