पीएम मोदी ने किया बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन, बोले- योगी आदित्यनाथ बना रहे युवाओं का भविष्य

बड़ी खबर : पीएम मोदी ने किया बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन, बोले- योगी आदित्यनाथ बना रहे युवाओं का भविष्य

पीएम मोदी ने किया बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन, बोले- योगी आदित्यनाथ बना रहे युवाओं का भविष्य

Google Image | PM Narendra Modi

पीएम मोदी ने किया बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन, बोले- योगी आदित्यनाथ बना रहे युवाओं का भविष्य Bundelkhand : पीएम मोदी ने आज शनिवार 16 जुलाई को बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन किया है। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, "पुरानी सोच को छोड़कर हम नई सोच के साथ आगे बढ़ रहे हैं। 2017 के बाद कनेक्टिविटी के लिए बेहतर काम शुरू हुए हैं। बड़े शहरों के साथ ही छोटे शहरों की कनेक्टिविटी पर भी ध्यान दिया जा रहा है।"

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे में हुई 1,132 करोड़ रुपए की बचत
प्रदेश सरकार ने इस निर्माण के कार्य में करीब 1,132 करोड़ रुपए की बचत की है। यह कुल अनुमानित लागत का 12.72 प्रतिशत है। अभी 4 लेन में बने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे को आगे 6 लेन तक बढ़ाने की योजना है। इस नए एक्सप्रेसवे की एक और खासियत यह भी है कि यह आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे से इटावा के पास जुड़े है, जिससे दिल्ली-एनसीआर के साथ लखनऊ वालों को भी बुंदेलखंड तक सीधा रूट मिलेगा।

इन 7 जिलों के 182 गांवों को होगा फायदा
बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे में बुंदेलखंड के 7 जिलों को फायदा मिलेगा। इस एक्सप्रेसवे में चार रेलवे ओवरब्रिज, 11 बड़े पुल, 6 टोल प्लाजा, 7 रैंप प्लाजा, 266 छोटे पुल (लघु सेतु) और 18 फ्लाई ओवर भी बनाए गए है। बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे जिन जनपदों के गांवों से गुजर रहा है। उसमें सबसे ज्यादा 64 गांव जालौन जिले के हैं। औरैया जिले में 37, हमीरपुर जिले में 29, बांदा जिले में 28, चित्रकूट जिले में 9, महोबा जिले में 8 और इटावा जिले के 7 गांव शामिल हैं।

यूपी को मिला 5वां सबसे बड़ा एक्सप्रेसवे
बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के साथ ही प्रदेश को 5वां सबसे बड़ा एक्सप्रेसवे मिला है। मोदी ने इस एक्सप्रेसवे का शिलान्यास 29 फरवरी 2020 को किया था। एक्सप्रेसवे की खास बात यह है कि लॉकडाउन के बावजूद लगभग 300 किलोमीटर लंबा हाईवे मात्र 28 महीने में बनकर तैयार हो गया है। यह प्रोजेक्ट तय समय से 10 महीने ही पूरा हो गया है।

बुंदेलखंड क्षेत्र में अहम भूमिका निभाएगा
बुंदेलखंड क्षेत्र की प्रगति में विकास के लिए राज्य सरकार ने जनपद चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर और जालौन जैसे आर्थिक रूप से कम विकसित जिलों के सर्वांगीण विकास के लिए बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के निर्माण का संकल्प लिया है। यह एक्सप्रेसवे प्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र को देश की राजधानी दिल्ली से आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे एवं यमुना एक्सप्रेसवे के माध्यम से जोड़ेगा और बुंदेलखंड क्षेत्र के विकास में अहम भूमिका निभाएगा।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.