रूडसेट की 129वीं बैठक में स्वरोजगार पर हुए चर्चा, जल्द 126 प्रशिक्षुओं का शुरू होगा खुद का बिजनेस

Gurugram : रूडसेट की 129वीं बैठक में स्वरोजगार पर हुए चर्चा, जल्द 126 प्रशिक्षुओं का शुरू होगा खुद का बिजनेस

रूडसेट की 129वीं बैठक में स्वरोजगार पर हुए चर्चा, जल्द 126 प्रशिक्षुओं का शुरू होगा खुद का बिजनेस

Tricity Today | रूडसेट की 129वीं बैठक का हुआ सम्पन्न

रूडसेट की 129वीं बैठक में स्वरोजगार पर हुए चर्चा, जल्द 126 प्रशिक्षुओं का शुरू होगा खुद का बिजनेस
  • -रूडसेट की जिला स्तरीय परामर्श समिति की 129वीं बैठक की अतिरिक्त उपायुक्त ने अपने कार्यालय में की अध्यक्षता
  • -प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके सफल उद्यमियों की सफलता की कहानियों को विभिन्न माध्यमों से आमजन तक पहुचाएं रुड़सेट संस्थान: एडीसी गुरुग्राम
  • -संस्थान ने मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही में प्रशिक्षण प्राप्त 126  प्रशिक्षुओं के स्वरोजगार शुरू करवाए
     
Gurugram : ग्रामीण विकास और स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (रूडसेट) की जिला स्तरीय रूडसेटी परामर्श समिति की 129वीं बैठक वीरवार को अतिरिक्त उपायुक्त विश्राम कुमार मीणा की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में बताया गया कि चालू वित्त वर्ष में की पहली तिमाही में 4 प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए गए। जिसके माध्यम से 80 बेरोजगारों को प्रशिक्षण देकर उन्हें स्वरोजगार के लायक बनाया गया और 126 प्रशिक्षुओं के स्वरोजगार भी शुरू करवाए गए। इन 126 प्रशिक्षुओं में गत वर्ष की अंतिम तिमाही के वे प्रशिक्षु भी शामिल है। जिन्होंने 31 मार्च 2022 तक प्रशिक्षण प्राप्त किया था।

रुड़सेट संस्थान से ली विस्तृत रिपोर्ट
एडीसी विश्राम कुमार मीणा ने बैठक में रुड़सेट संस्थान के निदेशक निर्मल यादव से विस्तृत रिपोर्ट लेने उपरान्त कहा कि सभी संबंधित अधिकारी स्वंय सहायता समूहों (एसएचजी) और सफल उद्यमियों की सफलता की कहानी प्रचार के विभिन्न माध्यमों से आमजन के बीच लेकर जाएं। ताकि अन्य लोगों को प्रेरित करने के साथ ही उन्हें स्वावलंबी बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि आपके ऐसा करने से कौशल विकास के माध्यम से स्वरोजगार की चाह रखने वाले लोगों को प्रेरणा मिलेगी और वे जिला प्रशासन द्वारा करवाए जा रहे निःशुल्क प्रशिक्षण कार्यक्रमों से जुड़ते हुए इनका लाभ उठा सकेंगे।

विभिन्न योजनाओंकी डिमांड के अनुरूप प्रशिक्षण कोर्सिज करवाए जाए
विश्राम कुमार मीणा ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा विभिन्न योजनाओं के तहत आमजन को मार्किट की डिमांड के अनुरूप प्रशिक्षण कोर्सिज करवाए जाते हैं। ऐसे में जरूरी है कि लोगों तक ना केवल इन कोर्सिज के बारे में जानकारी पहुंचाई जाए बल्कि जो लोग ये कोर्स करके इन क्षेत्रों में सफल उद्यमी बनकर उभरे हैं उनकी सफलता की कहानी भी लोगों से सांझा की जाए। इतना ही नहीं, इन कोर्सिज को करने वाले प्रशिक्षणार्थियों को बैंको द्वारा अलग-अलग योजनाओं के तहत दिए जाने वाले ऋणों से भी जोड़ा जाए, ताकि वे आजीविका के साधन जुटा सकें।

इन कोर्सों के लिए आए 80 लोगों के आवदेन
बैठक में रुड़सेट संस्थान गुरुग्राम के निदेशक निर्मल यादव ने बताया कि मौजूदा वित्त वर्ष में कुल 25 प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से 750 लोगों को प्रशिक्षण देने और उनमें से 525 को उनका स्वरोजगार स्थापित करवाने का लक्ष्य है। इन्हीं उद्देश्यों की पूर्ति के लिए संस्थान द्वारा उपरोक्त 125 प्रशिक्षण प्राप्त प्रशिक्षुओं को स्वरोजगार के लिए जिला अग्रणी बैंक केनरा बैंक सहित विभिन्न बैंकों के माध्यम  35.60 लाख रुपये की वित्तीय सहायता दिलवाई जा चुकी है। इन्हें मुख्य रूप से साफ्ट ट्वाय मेकर, सेलर, रेफ्रिजरेशन, एयर कंडीशनिग, डेयरी फार्मिंग व वर्मी कंपोस्ट मेकिग का प्रशिक्षण दिया गया है। उन्होंने बताया कि संस्थान की ओर से पहली तिमाही यानी जून माह के अंत तक उद्यमी जागरूकता कार्यक्रम के 62 कार्यक्रम आयोजित किए गए थे। वहीं, मौजूदा तिमाही में साफ्ट ट्वाय मेकर, जूट प्रोडक्ट्स उद्यमी व फोटोग्राफी  और वीडियोग्राफी प्रशिक्षण कार्यक्रम के लिए 80 लोगों के आवदेन प्राप्त हुए हैं।

ये लोग रहे उपस्थित 
इस अवसर पर अग्रणी जिला प्रबंधक अशोक कुमार जुलाहा, आरसेटी से स्टेट डायरेक्टर पीके गंभीर, एमएसएमई गुरुग्राम के संयुक्त निदेशक सतीश कुमार, एसडीएमई के प्रतिनिधि सुमित राव, एनआरएलएम से दिप्ती ढींढसा, केनरा बैंक से पी सी गोदारा और नाबार्ड से विनय कुमार त्रिपाठी उपस्थित रहे।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.