Farmers Tractor Rally : गृह मंत्रालय की उच्चस्तरीय बैठक शुरू, अतिरिक्त सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हुईं

गृह मंत्रालय की उच्चस्तरीय बैठक शुरू, अतिरिक्त सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हुईं

Google Image | किसानों के हिंसक प्रदर्शन को लेकर गृह मंत्री की इमरजेंसी बैठक चल रही है

दिल्ली में किसानों के हिंसक प्रदर्शन को लेकर गृह मंत्रालय एक उच्च स्तरीय बैठक कर रहा है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह किसानों के हिंसक प्रदर्शन को लेकर काफी खफा हैं। गृह मंत्री दिल्ली में हुई हिंसा की समीक्षा कर रहे हैं। गृह मंत्रालय ने अतिरिक्त सुरक्षा एजेंसियों को एलर्ट रहने का निर्देश दिया है। राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सुरक्षा बलों की अतिरिक्त कंपनियां तैनात की गई हैं। सभी सुरक्षा एजेंसियों को चौकन्ना कर दिया गया है। अतिरिक्त सुरक्षा बलों को अलर्ट रहने का निर्देश दिया गया है। गृह मंत्रालय दिल्ली में बिगड़े हालात पर बैठक में चर्चा कर रहा है। केंद्रीय मंत्रालय ने पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों को स्थिति पर नियंत्रण बनाए रखने के लिए निर्देश दिया है।

मंगलवार को प्रदर्शनकारी किसानों के हिंसक हो जाने की वजह से गृह मंत्रालय ने दिल्ली के कई इलाकों में इंटरनेट सेवाएं तुरंत प्रभाव से बंद कर दिया है। साथ ही दिल्ली के सभी बॉर्डर सील कर दिए गए हैं। दिल्ली में इंटरनेट सेवाओं पर आज रात 12:00 बजे तक पाबंदी रहेगी। सिंधु, टिकरी, गाजीपुर बॉर्डर, मुकरबा चौक और नांगलोई में इंटरनेट सेवाएं पूरी तरह से रोक दी गई हैं। दिल्ली मेट्रो की सेवाएं भी बाधित हुई हैं। कई मेट्रो रूट्स पर स्टेशन बंद कर दिए गए हैं। हालांकि किसान नेता प्रदर्शन स्थल पर वापस बॉर्डर लौटने का आश्वासन दे रहे हैं, पर फिलहाल दिल्ली के अंदर आपात जैसे हालात बने हुए हैं। इस दौरान 30 साल के एक प्रदर्शनकारी की मौत भी हो गई है। हालांकि मौत की वजह फिलहाल स्पष्ट नहीं है। 

बताते चलें कि किसानों ने राजपथ पर गणतंत्र दिवस समारोह समाप्त होने के बाद दिल्ली में ट्रैक्टर परेड की इजाजत ली थी। पर मंगलवार सुबह से ही कुछ किसान समूल दिल्ली में घुसने लगे। पुलिस ने इन्हें रोकने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। पर पुलिस किसानों को नहीं रोक सकी। भारी संख्या में किसान लाल किला पहुंच गाए और लाल किले पर किसान संगठनों का झंड़ा लहराया। इस दौरान प्ररदर्शनकारी किसानों ने देश के तिरंगे को उतार दिया। पुलिस हालात को नियंत्रित करने में जुटी रही, पर प्रदर्शनकारी किसान समूह अनियंत्रित रहे। 

इस वजह से गृह मंत्रालय ने दिल्ली के कई इलाकों में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी। खास कर दिल्ली बॉर्डर से सटे इलाकों में इंटरनेट सेवाएं रात 12:00 बजे तक स्थगित रहेंगी। फरीदाबाद-पलवल बॉर्डर पर पुलिस ने किसानों को रोकने के लिए उन पर लाठीचार्ज किया है। किसानों ने भी ट्रैक्टरों की टक्करों से ट्रकों को हटाने का प्रयास किया। इस दौरान कुछ किसानों को हिरासत में लिया गया है। एहतियात बरतते हुए पुलिस ने सैकड़ों ट्रैक्टरों के टायरों की हवा निकाल दी। हिंसक झड़पों में दोनों तरफ से दस से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। राष्ट्रीय राजधानी की पुलिस हालात को नियंत्रित करने में जुटी है।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.