गाजियाबाद बना सबसे प्रदूषित शहर, बढ़ते वायु प्रदूषण से लोगों को सांस लेने में तकलीफ

Pollution Report : गाजियाबाद बना सबसे प्रदूषित शहर, बढ़ते वायु प्रदूषण से लोगों को सांस लेने में तकलीफ

गाजियाबाद बना सबसे प्रदूषित शहर, बढ़ते वायु प्रदूषण से लोगों को सांस लेने में तकलीफ

Google Image | Symbolic Image

गाजियाबाद बना सबसे प्रदूषित शहर, बढ़ते वायु प्रदूषण से लोगों को सांस लेने में तकलीफ Delhi NCR : दिल्ली एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण की वजह से मौसम में तेजी से बदलाव देखने को मिल रहा है। दिल्ली में लगातार बढ़ रहे प्रदूषण के कारण शुरू हुई ठंड फिलहाल थम गई है और पिछले 2 दिनों के दौरान शुरुआती ठंड में हल्का ठहराव आया है। सोमवार सुबह राष्ट्रीय राजधानी के अलावा यह धुंध फरीदाबाद, नोएडा, गुरुग्राम, सोनीपत और हापुड़ में भी देखने को मिला। यूपी में रविवार को गाजियाबाद सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर रहा। बीते दिन गाजियाबाद में एक्यूआई 344 दर्ज किया गया। इसके बाद ग्रेटर नोएडा 342, नोएडा 321, कानपुर 306, हापुड़ 284, खुर्जा 278, बुलंदशहर 278, झांसी 256 और मेरठ 229 प्रदूषित शहरों में शामिल रहे। 383 एक्यूआई के साथ फरीदाबाद देश का सबसे प्रदूषित शहर रहा।

स्मॉग से बढ़ेगी तकलीफ
वायु प्रदूषण और कोहरे के एक साथ मिलाप यानी स्मॉग के कारण लोगों को सांस लेने में तकलीफ हो रही है। इस पूरे सप्ताह दिल्ली एनसीआर के लोगों में यह शिकायत बनी रहेगी। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक सोमवार को दिल्ली में पीएम 10 दर्ज किया गया, जबकि मंगलवार को 332 और बुधवार को 392 रहने का अनुमान लगाया जा रहा है। इसके अतिरिक्त, सोमवार को पीएम 2.5 170 दर्ज किया गया, जबकि मंगलवार को 187 और बुधवार को 221 रहने के आसार हैं। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (Indian Meteorological Department) के अनुसार गाजियाबाद का सबसे अधिक प्रदूषित इलाका वसुंधरा और इंदिरापुरम रहे, जहां का एक्यूआई 400 को भी पार कर गया। उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (यूपीपीसीबी) के अनुसार वसुंधरा का एक्यूआई जहां 411 दर्ज किया गया, वहीं इंडिरापुरम का एक्यूआई 408 दर्ज किया गया।

कोहरे का रहेगा असर
मौसम विभाग के अनुमान के अनुसार दिल्ली एनसीआर में बहुत जल्द ही तापमान में गिरावट नजर आएगी और ठंड बढ़ने की संभावना है। इस सप्ताह तापमान सही रहेगा, लेकिन आगे चलकर तापमान गिरने की संभावना है। दिल्ली एनसीआर में बीते दिन रविवार को भी स्मॉग नजर आया लेकिन हल्की धूप भी दिखी। अधिकतम तापमान सामान्य स्तर पर 30.8 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 15.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हवा में नमी का स्तर 96 से 44 प्रतिशत रहा। जिला अस्पताल के सीनियर फिजिशियन डॉ. प्रदीप शैलत ने कहा कि अस्थमा और सांस के मरीजों को ज्यादा दिक्कत हो रही है। बुजुर्ग, गर्भवती और बच्चों को धूप निकलने तक बिल्कुल बाहर न निकलने दें। संभव हो तो घर में रहें और एग्जॉस्ट फैन चलाकर रखें।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.