अच्छी खबर : आईटी इंजीनियर हो जाएं खुश, ग्रेटर नोएडा आने वाली हैं मेगा और सुपर आईटी कंपनियां

आईटी इंजीनियर हो जाएं खुश, ग्रेटर नोएडा आने वाली हैं मेगा और सुपर आईटी कंपनियां

Google Image | प्रतीकात्मक फोटो

हम आईटी प्रोफेशनल्स के लिए इस साल की शुरुआत में सबसे बड़ी खबर लेकर आए हैं। ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण आईटी और आईटीस क्षेत्र की सुपर व मेगा कंपनियों को आमंत्रित कर रहा है। विकास प्राधिकरण ने गुरुवार को इसके लिए बकायदा लैंड एलॉटमेंट स्कीम घोषित की है। जिसके तहत दो कंपनियों को बड़े भूखंडों का आवंटन किया जाएगा। बड़ी बात यह है कि पिछले कई वर्षों के बाद विकास प्राधिकरण ने इस और ध्यान दिया है। दरअसल, पूर्व में किए गए आवंटनों से कोई खास फायदा शहर को नहीं मिल पाया था। ज्यादातर आईटी और आईटीएस कैटेगरी के भूखंड निवेशकों और अनिच्छुक कंपनियों ने खरीद लिए थे।

गुरुवार को प्राधिकरण की ओर से जारी की गई प्रेस रिलीज में बताया गया है कि आईटी और आईटीएस कंपनियों के लिए शहर के सेक्टर टेकजोन और सेक्टर नॉलेज पार्क-5 में 2 भूखंडों का आवंटन किया जाएगा। सेक्टर टेकजोन में भूखंड संख्या-5 आईटी या आईटीएस कंपनी को दिया जाएगा। इसका क्षेत्रफल 100 एकड़ है। सेक्टर नॉलेज पार्क-5 में भूखंड संख्या-19 का आवंटन किया जाएगा। यह 24.98
एकड़ का प्लॉट है। 

प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेंद्र भूषण ने बताया कि जिन इकाइयों का कुल निवेश 200 करोड़ रुपये से अधिक होगा, उन्हें इन भूखंडों का आवंटन किया जाएगा। उत्तर प्रदेश सरकार की आईटी और आईटीएस नीति के तहत मेगा, मेगा प्लस और सुपर मेगा श्रेणी की कंपनियां इन भूखंडों के लिए आवेदन कर सकती हैं। सीईओ ने बताया कि इन्वेस्ट यूपी और ग्रेटर नोएडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी के सामने आवंटन के लिए आवेदन कर सकते हैं। कंपनियों के निवेश प्रस्ताव मिलने के बाद 15 दिनों के अंदर भूखंडों का आवंटन कर दिया जाएगा।

सीईओ ने बताया कि इस आवंटन में एक शर्त यह है कि कंपनी को 7 करोड़ रुपए प्रति एकड़ की दर से निवेश करना अनिवार्य होगा। जिन आईटी और आईटीएस कंपनियों का निवेश 200 करोड़ रुपये से कम है, वह भूखंड आवंटन के लिए प्राधिकरण की आधिकारिक वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। ऐसी कंपनियों को भी आवंटन किया जाएगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.