8 लड़कियां आपत्तिजनक हालत में मिली, व्हाट्सऐप से होता था जिस्म का सौदा

फरीदाबाद में बड़े सेक्स रैकेट गैंग का पर्दाफाश : 8 लड़कियां आपत्तिजनक हालत में मिली, व्हाट्सऐप से होता था जिस्म का सौदा

8 लड़कियां आपत्तिजनक हालत में मिली, व्हाट्सऐप से होता था जिस्म का सौदा

Google Image | Symbolic Image

8 लड़कियां आपत्तिजनक हालत में मिली, व्हाट्सऐप से होता था जिस्म का सौदा Faridabad : फरीदाबाद में शनिवार की देर रात को पुलिस ने सेक्टर-21डी के एक आपत्तिजनक व्यापार का भांडा फोड़ा है। सेक्टर-21डी के गेस्ट हाउस में देह व्यापार चलाया जा रहा था। इस आपत्तिजनक व्यापार से पुलिस ने 8 युवतियां सहित 11 लोगों को पकड़ा है। इस व्यापार और गेस्ट हाउस के संचालक ढाई हजार रूपये में कमरे और युवतियां दोनों उपलब्ध करा रहे थे। युवतियों के चुनाव के लिए फोन पर युवतियों की फोटो पहले ही भेज दी जाती थीं। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने तीन आरोपीयों को गिरफ्तार किया है और अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है। पुलिस मामले की जांचकर इस धंधे में शामिल अन्य कड़ियों की भी तलाश कर रही है।

एसीपी ट्रैफिक ने बुनी जाल
एसीपी ट्रैफिक विनोद कुमार को मिली जानकारी के अनुसार सेक्टर-21डी कोठी नंबर 42 में रॉयल रेजिडेंसी नाम के गेस्ट हाउस में देह व्यापार चलता है। एसीपी ट्रैफिक विनोद कुमार ने एनआईटी महिला थाना प्रभारी इंस्पेक्टर माया रानी और एनआईटी थाना प्रभारी इंस्पेक्टर सुनीता की टीम को साथ लेकर रेड की योजना बनाई। इसके लिए एक सिपाही को फर्जी ग्राहक बनाकर व्हाट्सएप के जरिये गेस्ट हाउस संचालक से संपर्क किया गया।

पांच हजार रुपये में दो युवतियां उपलब्ध
गेस्ट हाउस संचालक से जब सिपाही ने फर्जी ग्राहक बनकर व्हाट्सएप के जरिये संपर्क किया तो संचालक ने कहा कि वह पांच हजार रुपये में दो युवतियां उपलब्ध कराएगा। इसमें नेपाल, नार्थ ईस्ट और दिल्ली एनसीआर की युवतियां शामिल हैं। पहले आरोपी ने सिपाही को कुछ युवतियों के फोटो भी भेजे। सौदा तय होने के बाद संचालक ने लोकेशन भेजकर सिपाही को गेस्ट हाउस बुला लिया। यहां कई युवती पहले से मौजूद थीं। पैसे देने के बाद सिपाही ने पहले से तैयार पुलिस टीम को इशारा कर दिया। 

टीम ने की छापेमारी, गिरफ्तार आरोपी
मौके का फायदा उठाकर पुलिस की टीम ने छापेमारी की और इसी दौरान आठ युवतियों और तीन युवकों को गिरफ्तार कर लिया। कुछ लोग आपत्तिजनक हाल में भी पाए गए थे। युवतियों ने बताया गेस्ट हाउस संचालक जितेंद्र उर्फ जीतू उनसे देह व्यापार कराता है। गेस्ट हाउस सुलेंद्र और निखिल का है। उन्होंने इसे जितेंद्र को किराए पर दे रखा है। इसके अलावा कई अन्य व्यापारी जो इस पूरे रैकेट को चलाते हैं, वे सभी फरार हैं। थाना एनआईटी प्रभारी इंस्पेक्टर सुनीता ने बताया कि गेस्ट हाउस में चार युवक सट्टा खेलते हुए भी पाए गए थे। सभी को थाने लाकर केस दर्ज किया गया है। फरार अरोपियों की तलाश में छापेमारी की जा रही है।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.