बाइक सवार बदमाशों ने ज्वैलर से लूटे सीए के 18 लाख रुपए, गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस

गाजियाबाद : बाइक सवार बदमाशों ने ज्वैलर से लूटे सीए के 18 लाख रुपए, गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस

बाइक सवार बदमाशों ने ज्वैलर से लूटे सीए के 18 लाख रुपए, गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस

Tricity Today | Bike riding miscreants robbed 18 lakhs

बाइक सवार बदमाशों ने ज्वैलर से लूटे सीए के 18 लाख रुपए, गुत्थी सुलझाने में जुटी पुलिस Ghaziabad News : मधुबन बापूधाम थाना क्षेत्र में रविवार देर रात बाइक सवार दो बदमाशों ने ज्वैलर्स से 18 लाख रुपए लूट लिए। ज्वैलर्स सीए से कैश लेकर आ रहा था, जिसके बदले उन्हें बाद में सोने के बिस्किट देने थे। तभी बाइक सवार दो बदमाशों ने ज्वैलर्स की स्कूटी में टक्कर मारकर गिरा दिया और रुपए से भरा थैला लूट कर फरार हो गए। वहीं, लूट की सूचना से पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। एक बार फिर से बाइक सवार बदमाशों ने जिले में दहशत का माहौल बना दिया है। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच शुरु कर दी है।  

कैसे हुई पूरी वारदात
एसपी सिटी (प्रथम) निपुण अग्रवाल ने बताया कि कृष्णकांत ज्वैलर्स हैं, जो गोविंदपुरम में परिवार के साथ रहता है और गोविंदपुरम जी-ब्लॉक में राजपूत ज्वैलर्स के नाम से दुकान है। रविवार रात करीब 8 बजे वह सीए परविंंदर कुमार के घर स्वर्ण जयंती पुरम से 18 लाख रुपए की नगदी लेकर स्कूटी से अपने घर जा रहा था। जैसे ही स्वर्ण जयंती पुरम सीए के घर से कुछ दूरी रतार पेट्रोल पंप पर पहुंचा, तभी बाइक सवार दो बदमाश और स्कूटी में टक्कर मारकर रुपए से भरे थैले को लूट कर फरार हो गए। वहीं, इस लूट की घटना को पुलिस संदिग्ध मान रही है। घटना की सूचना पर मौके पर पहुंची टीम घटना स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रही है।

बड़ा सवाल- सीए के पास कहां से आया इतना पैसा?
पुलिस पूछताछ में ज्वैलर्स कृष्णकांत ने बताया कि यह पैसा उन्होंने सीए से लिया था। जिसके बदले उसे सीए को सोने के बिस्किट देने थे। जब पुलिस ने सीए के घर जाकर पूछताछ की पैसे कहां से आया। इस पर सीए कोई जवाब नहीं दे पाया। बाद में सीए ने बताया कि वह रुपए रिश्तेदारों से लेकर आया था। वहीं पुलिस इन रुपए को हवाला का भी नाम दे रही है। जिससे लग रहा है कि नंबर दो के रुपए को नंबर एक में करने के लिए इन रुपयों से सोने के बिस्किट खरीदकर खपाना चाहते है।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.