वकालत की पढ़ाई कर रहे युवक को दोस्त और पूजा ने उतारा मौत के घाट, 1800 रुपए बने हत्या की वजह

गाजियाबाद : वकालत की पढ़ाई कर रहे युवक को दोस्त और पूजा ने उतारा मौत के घाट, 1800 रुपए बने हत्या की वजह

वकालत की पढ़ाई कर रहे युवक को दोस्त और पूजा ने उतारा मौत के घाट, 1800 रुपए बने हत्या की वजह

Tricity Today | कुशराग

वकालत की पढ़ाई कर रहे युवक को दोस्त और पूजा ने उतारा मौत के घाट, 1800 रुपए बने हत्या की वजह Ghaziabad News : वकालत की पढ़ाई कर रहे युवक की उसके दोस्त और दोस्त की पत्नी ने बड़ी बेरहमी से हत्या करके एक कुएं में फेंक दिया। यह हत्या सिर्फ 1,800 रुपए के कारण की गई है। पुलिस ने हत्या करने वाले दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले के बाद मृतक वकालत कर रहे युवक के घर में मातम छा गया है। यह मामला गाजियाबाद के कविनगर इलाके का है।

29 दिसंबर को हुआ था लापता
गाजियाबाद एसपी सिटी निपुण अग्रवाल ने बताया कि बीते 29 दिसंबर को कविनगर कोतवाली में एक शिकायत दर्ज की गई थी। शिकायत के मुताबिक 23 साल का युवक कुशराग 29 दिसंबर को अपने घर से अचानक लापता हो गया था। इस मामले में कुशराग के परिजनों ने शिकायत देते हुए बताया था कि उसका दोस्त योगेंद्र चौधरी अपनी पत्नी पूजा के साथ उनके बेटे से मिलने आया था, उसके बाद से ही उनका बेटा कुशराग लापता है।

1,800 रुपए बने मौत की वजह
जांच के दौरान पुलिस ने कुशराग के दोस्त योगेंद्र चौधरी को हिरासत में लिया और पूछताछ शुरू की। काफी सख्ती के साथ पूछताछ करने पर योगेंद्र चौधरी ने बताया कि उसने अपनी पत्नी पूजा के साथ मिलकर पहले कुशराग की पीट-पीटकर हत्या की, उसके बाद उसके शव को एक कुएं में फेंक दिया। यह हत्या 1,800 रुपए के कारण की गई थी। पुलिस ने योगेंद्र चौधरी को गिरफ्तार कर पूरे मामले का खुलासा किया।

हत्या कर कुंए में फेंका शव
पुलिस के मुताबिक योगेंद्र चौधरी की पत्नी पूजा भी इस हत्याकांड में शामिल है। जहां पर इन दोनों ने कुशराग की बड़ी बेरहमी के साथ मारपीट की थी, उससे कुछ दूरी पर ही उसका शव एक कुएं में बरामद हुआ। कुशराग एलएलबी सेकंड ईयर का छात्र था। वह वकालत की पढ़ाई कर रहा था। कुल 1,800 रुपए के लेन-देन के कारण एक दोस्त ने ही अपनी दोस्त की हत्या कर दी।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.