जीडीए ने किया 2158 प्रॉपर्टी को नीलामी करने का खाका तैयार, तिजोरी को भरेगा सारा पैसा, पूरी जानकारी

बड़ी खबर : जीडीए ने किया 2158 प्रॉपर्टी को नीलामी करने का खाका तैयार, तिजोरी को भरेगा सारा पैसा, पूरी जानकारी

जीडीए ने किया 2158 प्रॉपर्टी को नीलामी करने का खाका तैयार, तिजोरी को भरेगा सारा पैसा, पूरी जानकारी

Google Image | Ghaziabad Authority

जीडीए ने किया 2158 प्रॉपर्टी को नीलामी करने का खाका तैयार, तिजोरी को भरेगा सारा पैसा, पूरी जानकारी Ghaziabad : आगामी नवरात्रि पर्व में जीडीए अपनी संपत्तियों को बेचकर मोटी कमाई करने को आतुर है। इसके मद्देनजर अधिकाधिक संपत्तियों को खुली बोली के जरिए नीलामी में बेचने की कार्ययोजना तैयार कर ली गई है। नीलामी प्रक्रिया में आवासीय एवं व्यावसायिक संपत्तियों को बिक्री के लिए रखा जाएगा। गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (जीडीए) के उपाध्यक्ष कृष्णा करूणेश के निर्देश पर संपत्ति अनुभाग ने विभिन्न योजनाओं में कुल 2158 संपत्तियों को बेचने का खाका तैयार कर लिया है।

जीडीए के अपर सचिव एवं संपत्ति प्रभारी सीपी त्रिपाठी ने बताया कि नीलामी में बेचने के लिए मधुबन-बापूधाम योजना के एलआईजी, एमआईजी और बहुमंजिला टावरों के फ्लैट रखे जाएंगे। उधर, इंद्रप्रस्थ और कोयल एंक्लेव योजना के एक से दो बीएचके के फ्लैट शामिल हैं। वहीं, मालीवाड़ा में चंद्रशिला अपार्टमेंट के फ्लैट के साथ इंदिरापुरम में न्याय खंड योजना में 4 मंजिला एमआईजी, तीन मंजिला मिनी एमआईजी फ्लैट सम्मिलित हैं। इन भवनों में मिनी एमआईजी व दो बीएचके के फ्लैट की कीमत 19.29 लाख रुपए से लेकर 52.28 लाख रुपए तक है। वहीं तीन बीएचके की कीमत 60 लाख से 69 लाख के बीच में हैं। यह सभी फ्लैट 1968 है। जबकि कॉमर्शियल,आवासीय एवं पेट्रोल पंप,स्कूल के मिलाकर 190 भूखंडों को बेचने के लिए सूची तैयार की गई है।

नवरात्रों में होने वाली जीडीए की नीलामी प्रक्रिया में लोग 2158 संपत्तियां खरीद सकेंगे। जीडीए की बोर्ड बैठक के बाद से नीलामी प्रक्रिया पर ब्रेक लगा हुआ है। बोर्ड बैठक में संपत्तियों की किश्तों में एकरूपता लाने का प्रस्ताव पास होने और फिर पितृपक्ष लगने के चलते नीलामी प्रक्रिया फिलहाल ब्रेक है। अक्टूबर माह में शुरू होने वाली नीलामी में आवासीय भवनों के साथ औद्योगिक और व्यावसायिक भूखंड लोग खरीद सकेंगे। नवरात्र में जीडीए को भवनों से लेकर भूखंडों के अधिक खरीदार मिलने की उम्मीद है।

जीडीए जल्द ही वेवसाइट के साथ ट्विटर हैंडल पर इस सूची को डालेगा। जीडीए के अपर सचिव सीपी त्रिपाठी ने बताया कि जीडीए द्वारा कराई जाने वाली नीलामी में करीब 806 करोड़ रुपए की संपत्तियों को शामिल किया जाएगा। इनमें सबसे ज्यादा संपत्तियां मधुबन-बापूधाम योजना की हैं। मधुबन में एलआईजी, एमआईजी और बहुमंजिला टावरों के फ्लैट शामिल हैं। इंद्रप्रस्थ योजना में औद्योगिक भूखंड के आवंटियों को किश्तों पर अब 11 फीसद की जगह 9 फीसद ही ब्याज किश्तों पर देना होगा। ऐसे में नवरात्र से संपत्तियों की नीलामी के जरिए बिक्री करने के लिए 2158 संपत्तियों का शेड्यूल जल्द जारी किया जाएगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.