BIG NEWS: गाजियाबाद प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, ली-क्रिस्ट हॉस्पिटल पर एक लाख का जुर्माना और नोटिस जारी हुआ

गाजियाबाद प्रशासन की बड़ी कार्रवाई, ली-क्रिस्ट हॉस्पिटल पर एक लाख का जुर्माना और नोटिस जारी हुआ

Tricity Today | अस्पतालों का जायजा लेते अफसर

  • ऑक्सीजन व मेडिकल सुविधा उपलब्ध उपलब्ध कराने को लेकर अफसरो ने अस्पतालों का दौरा किया
  • ली-क्रिस्ट अस्पताल में 10 आईसीयू बेड  रिक्त पाए गए, बाहरी मरीजों के मिले रजिस्ट्रेशन
गाजियाबाद में कोरोना का वायरस बेकाबू हो गया है। रोजाना मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते जिले में अस्पताल, ऑक्सीजन, बेड, इंजेक्शन और अन्य मेडिकल सुविधाओं के लिए खूनी संघर्ष जैसे हालात बने हुए हैं। जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम इससे पार पाने की जुगत में हैं। लेकिन कोई खास सफलता नहीं मिल रही है। सोमवार को प्रशासनिक अधिकारियों की टीम ने अस्पतालों का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान प्रशासनिक अधिकारियों की टीम द्वारा अस्पतालों में पर्याप्त ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध होने पर भी अस्पतालों में प्रति बेड ऑक्सीजन आवश्यकता के आधार पर ऑक्सीजन डिमांड रिपोर्ट तैयार की गई

कोरोना से संक्रमित मरीजों हेतु बेड की उपलब्धता, ऑक्सीजन व बेहतर मेडिकल सुविधाओं के दृष्टिगत नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर, सिटी मजिस्ट्रेट, एडीएम सिटी शैलेंद्र सिंह, नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मिथिलेश कुमार, एसीएम विनय कुमार ने गाजियाबाद के अस्पतालों का निरीक्षण किया। अस्पतालों में कुल बेड की संख्या, उपलब्ध ऑक्सीजन बेड, आईसीयू बेड की ससंख्या, मरीजों की संख्या, उपयोग में लाई जाने वाली ऑक्सीजन सिलेंडर की संख्या व अन्य मेडिकल सुविधाओं हेतु निरीक्षण कर अस्पतालों के प्रबंधकों से वार्ता की गई।

निरीक्षण के दौरान कई प्राइवेट अस्पतालों की लॉग बुक से जानकारी मिली कि 30 से 45 मिनट में लगभग 20 ऑक्सीजन सिलेंडर की आवश्यकता है। गैस टेक्नीशियन ने बताया कि पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध हो रही है। अस्पतालों के स्टोर में ऑक्सीजन सिलेंडर पर्याप्त मात्रा में पाए गए। निरीक्षण के माध्यम से प्रशासनिक अधिकारियों की टीम द्वारा अस्पतालों में पर्याप्त ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध होने पर भी अस्पतालों में प्रति बेड ऑक्सीजन आवश्यकता के आधार पर ऑक्सीजन डिमांड रिपोर्ट तैयार की गई। ताकि उस आधार पर ऑक्सीजन की सप्लाई लगातार की जा सकें। मरीजों को ऑक्सीजन संबंधित किसी प्रकार की समस्या उत्पन्न आगामी दिनों में ना हो।

ली क्रिस्ट अस्पताल के गेट पर फुल बेड का बोर्ड लगा हुआ पाया गया। किंतु वास्तविकता के आधार पर यह बिल्कुल गलत निरीक्षण के दौरान साबित हुआ, अस्पताल में आईसीयू बेड 10 रिक्त पाए गए, उपस्थित मरीजों का भी गाजियाबाद से बाहर वाले मरीजों का रजिस्ट्रेशन पाया गया जो की आपत्तिजनक है। प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा अस्पताल प्रबंधन को बुलाए जाने पर मौके अस्पताल से कोई जिम्मेदार स्टाफ उपस्थित नहीं हुआ काफी इंतजार करने के बाद अस्पताल से जीएम ऑपरेशन सुरेश उपस्थित हुए जो कि मरीजों के प्रति अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही को दर्शाता है। 

नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मिथिलेश कुमार ने निरीक्षण के दौरान बायो मेडिकल वेस्ट तथा जनरल वेस्ट का निस्तारण सिंगल विंडो पाया। यह बॉयो सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट अधिनियम 2016 का उल्लंघन है। जिसके तहत अस्पताल पर 100000 का जुर्माना तथा कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। 48 घंटे के समय अंतराल में यदि अस्पताल प्रबंधन द्वारा उचित स्पष्टीकरण नहीं दिया जाता है तो अस्पताल का रजिस्ट्रेशन निरस्त करने की कार्यवाही भी की जाएगी। नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तवर द्वारा बताया गया कि शहर के मरीजों को यदि किसी भी प्रकार की परेशानी अस्पताल अपने लाभ की वशीभूत उत्पन्न करते हैं तो उनके खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाएगी।
 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.