कंपनी कर्मचारियों ने मालिक से मांगी 10 लाख की रंगदारी, 4 गिरफ्तार

गाजियाबाद : कंपनी कर्मचारियों ने मालिक से मांगी 10 लाख की रंगदारी, 4 गिरफ्तार

कंपनी कर्मचारियों ने मालिक से मांगी 10 लाख की रंगदारी, 4 गिरफ्तार

Tricity Today | 4 गिरफ्तार

कंपनी कर्मचारियों ने मालिक से मांगी 10 लाख की रंगदारी, 4 गिरफ्तार Ghaziabad : घंटाघर कोतवाली पुलिस ने चार ऐसे आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जो कि कम समय ज्यादा पैसा कमाने के लालच में अपने ही कंपनी मालिक को फोन कर 10 लाख रूपए की रंगदारी मांगने लगे। पुलिस ने चारों को गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गये आरोपियों में दो कंपनी के कर्मचारी है। जिन्होंने अपने साथियों के साथ मिलकर 10 लाख रूपए की रंगदारी मांगी। रूपए न देने पर अंजाम भुगतने की धमकी भी दे डाली। पीडि़त कारोबारी ने घटना की शिकायत कोतवाली में दी। पुलिस ने कार्र्रवाई करते हुए चारों को दबोच लिया। वहीं गिरोह में शामिल एक आरोपी फरार है।

सीओ प्रथम महिपाल सिंह ने बताया कि घंटाघर कोतवाली एसएचओ अमित कुमार के नेतृत्व में एसआई इमाम जैदी, सर्विलांस टीम प्रभारी नरेन्द्र कुमार की टीम ने रविवार को जित्ते उर्फ जितेन्द्र पुत्र रामजीलाल निवासी अनूपशहर बुुलंदशहर, आकाश पुत्र राकेश निवासी अमीनगर सराय बागपत, मंजीत सिंह पुत्र महेद्र सिंह निवासी खैर अलीगढ, धमेन्द्र पुुत्र चन्द्रपाल निवासी सदलपुर बुलंदशहर को गिरफ्तार किया गया। कारोबारी अबुतराव की एसके ट्रैडर इण्डस्ट्रियल एरिया कविनगर में कंपनी हैै। 30 अगस्त को अज्ञात नंबर से कारोबारी के पास 10 लाख की रंगदारी मांगी गई। रूपए न देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी गई। 

पीड़ित ने घटना की शिकायत कोतवाली में दी। जित्ते उर्फ जितेन्द्र एवं आकाश कंपनी कर्मचारी है। जिनको मालिक के आने-जाने व वाहन एवं परिवारके सदस्यों की पूरी जानकारी थी। आरोपियों ने पैसा कमाने की लालच में रंगदारी की योजना बनाई। घंटाघर कोतवाली एसएचओ अमित कुमार ने बताया मालिक को शक न हो इसलिए अपने साथी विनीत से संपर्क किया। विनीत ने फर्जी सिम व खाता उपलब्ध कराया। इसके बाद आवाज पहचान में न आए इसके लिए अपनी बुआ के लड़के धमेन्द्र से संपर्क किया। उससे फोन करवाकर 10 लाख रूपए की रंगदारी मांगी। आरोपियों के पास से घटना में प्रयक्त एयरटेल की सिम भी बरामद की गई है। आरोपियों का अपराधिक इतिहास खंगाला जा रहा है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.