गाजियाबादः पुलिस कांस्टेबल ने जान की बाजी लगाकर तीन लोगों की बचाई जिंदगी, मिला ये इनाम

पुलिस कांस्टेबल ने जान की बाजी लगाकर तीन लोगों की बचाई जिंदगी, मिला ये इनाम

Social Media | कांस्टेबल ने जान की बाजी लगाकर तीन लोगों की बचाई जिंदगी

गाजियाबाद में एक ट्रैफिक पुलिस कर्मी की फूर्ती और सुझबुझ ने तीन लोगों की जिंदगी बचा ली। हालांकि इस दौरान पुलिस कर्मी को चोट आई है। घटना दिल्ली-हापुर ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे (Eastern Peripheral Expressway) पर रविवार रात 9 बजे की है। गाजियाबाद के एसएसपी अमित पाठक ने कांस्टेबल अरुण कुमार की बहादुरी के लिए उन्हें नगदी और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया है। फिलहाल अन्य लोगों के साथ उनका इलाज चल रहा है।

रविवार की रात करीब 9 बजे एक वेगनआर गाड़ी में सवार तीन लोग ग्रेटर नोएडा से ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेसवे होते हुए गाजियाबाद आ रहे थे। इसी दौरान डासना के करीब एक दूसरी कार ने उन्हें ओवरटेक किया। इस दौरान दोनों कारों का संतुलन बिगड़ गया और उनमें जोरदार टक्कर हो गई। इसके बाद वेगनआर कार डिवाइडर सा जा टकरायी और उसमें आग लग गई। देखते-देखते कार आग के गोले में तब्दील हो गई। 


घटना स्थल पर चीख-पुकार मच गई। कार में सवार तीनों लोग उसके अंदर फंसे हुए थे। उस वक्त ट्रैफिक पुलिस के कांस्टेबल अरुण कुमार ड्यूटी पर तैनात थे। शोर सुनकर वह मौके पर पहुंचे और अपने एक साथी की मदद से जलती कार से तीनों लोगों को बाहर निकाला। इस दौरान कांस्टेबल अरुण कुमार भी झुलस गए। 

गाजियाबाद ग्रमीण एसपी डॉ इरज राजा ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही मसूरी थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। सभी लोगों को नजदीकी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। जहां उनका इलाज चल रहा है। गाजियाबाद के एसएसपी अमित पाठक ने अरुण कुमार की बहादुरी को सराहा। उन्होंने कांस्टेबल को 10000 रुपये नगद और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। साथ ही जल्द उनके स्वस्थ होने की कामना की।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.