लिंग परीक्षण करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, एक आरोपी दबोचा

गाजियाबाद : लिंग परीक्षण करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, एक आरोपी दबोचा

लिंग परीक्षण करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, एक आरोपी दबोचा

Tricity Today | Symbolic Photo

लिंग परीक्षण करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, एक आरोपी दबोचा हरियाणा के गुरूग्राम जनपद और गाजियाबाद की पीसीपीएनडीटी (गर्भ धारण एवं प्रसव पूर्व निदान तकनीक विनियमय तथा दुरुपयोग) टीम ने मंगलवार को इंद्रप्रस्थ आवासीय योजना के ईडब्ल्यूएस फ्लैट नंबर 564 में अवैध रूप से संचालित पोर्टेबल अल्ट्रासाउंड मशीन से गर्भ में पल रहे भ्रूण का लिंग परीक्षण करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। 

पीसीपीएनडीटी टीमों ने मौके से दिल्ली के नगलू राया निवासी कुलदीप पुत्र राजसिंह को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। उसका साथी कपिल, जो पोर्टेबल अल्ट्रासाउंड मशीन लेकर आया था, मोटरसाइकिल से मशीन लेकर भाग गया। गाजियाबाद पीसीपीएनडीटी टीम के नोडल अधिकारी एसीएमओ डा. सुनील त्यागी ने मौके से ही मुख्य विकास अधिकारी अस्मिता लाल और मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. एनके गुप्ता व उप जिला अधिकारी लोनी को सूचित किया और थाना टीला मोड़ में एफआईआर दर्ज करा दी गई है। 

बता दें कि जिलाधिकारी गाजियाबाद ने फरवरी, 2021 में हरियाणा के स्टेट नोडल अधिकारियों के साथ समन्वय बैठक कर लिंगानुपात बढ़ाने के संबंध में चर्चा की थी और वर्तमान लिंगानुपात को 913 से बढ़ाकर 950 तक ले जाने का लक्ष्य निर्धारित किया था। इसके लिए सबसे पहली जरूरत भ्रूण हत्या पर रोक लगाना है। इसके लिए जरूरी है कि पीसीपीएनडीटी के साथ खिलवाड़ कर अवैध रूप से अल्ट्रासाउंड के जरिए गर्भ में पल रहे लिंग की पहचान करने वाले गिरोहों की धरपकड़ की जाए। जिलाधिकारी ने ऐसे गिरोहों की धरपकड़ के लिए जिला स्तर पर एक सचल दस्ते का गठन किया था। दस्ते में एक मजिस्ट्रेट, दो चिकित्सक और एक पुलिस अधिकारी शामिल है। इसके साथ ही जिलाधिकारी की ओर से इंटर स्टेट समन्वय के लिए मुख्य विकास अधिकारी नामित प्रतिनिधि हैं।

 

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.