समीर हत्याकांड में पूर्व विधायक समेत तीन गिरफ्तार, इस वजह से दिया वारदात को अंजाम

GHAZIABAD BREAKING: समीर हत्याकांड में पूर्व विधायक समेत तीन गिरफ्तार, इस वजह से दिया वारदात को अंजाम

समीर हत्याकांड में पूर्व विधायक समेत तीन गिरफ्तार, इस वजह से दिया वारदात को अंजाम

Tricity Today | पुलिस की गिरफ्त में आरोपी

समीर हत्याकांड में पूर्व विधायक समेत तीन गिरफ्तार, इस वजह से दिया वारदात को अंजाम
  • मुरादनगर पुलिस ने 10 जुलाई को हुई समीर की हत्या के मामले का खुलासा किया
  • पुलिस ने पूर्व बसपा विधायक और उसके दो भतीजों को गिरफ्तार किया
  • बीते रविवार की सुबह प्रीत विहार कॉलोनी में लापता समीर का शव पड़ा मिला था
  • बसपा के पूर्व विधायक वहाब चौधरी ने उसे समीर की हत्या करने के लिए उकसाया
गाजियाबाद की मुरादनगर पुलिस ने अपहरण के बाद बीते 10 जुलाई को हुई समीर की हत्या के मामले का खुलासा कर दिया है। इस केस में सोमवार को मुरादनगर पुलिस ने पूर्व बसपा विधायक और उसके दो भतीजों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त पिस्टल भी बरामद किया है। पुलिस का कहना है कि पूर्व विधायक के उकसाने पर भतीजे ने हत्याकांड को अंजाम दिया था। तीनों आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

घटना गाजियाबाद जिले के मुरादनगर कस्बे की है। नगर के केला मंडी निवासी समीर के पिता शहजाद अंसारी ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उन्होंने कहा था कि शनिवार की शाम को उसके पुत्र समीर को आहद घर से बुलाकर ले गया था। इसके बाद से समीर लापता था। बीते रविवार की सुबह प्रीत विहार कॉलोनी में लापता समीर का शव पड़ा मिला था। उसकी गोली मारकर हत्या की गई थी। पिता शहजाद ने अपने पुत्र की हत्या के मामले में आहद को नामजद कराते हुए तीन अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी थी। 


कुछ दिन पहले ही रिहा हुआ
एसपी ग्रामीण डॉक्टर ईरज रजा ने बताया कि पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर कई पहलुओं पर मामले की जांच शुरू की। इसमें कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए थे। एसपी ग्रामीण ने बताया कि समीर हत्याकांड में पूर्व विधायक वहाब चौधरी, उसके भतीजे अहद और आफताब को गिरफ्तार किया गया है। एसपी ने बताया कि पूर्व विधायक के उकसाने पर भतीजे ने ही अपने दोस्त समीर की हत्या की थी। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। फिलहाल इस मामले में अभी और गहनता से जांच पड़ताल हो रही है। मृतक युवक एक वर्ष पूर्व महिला की हत्या के मामले में जेल गया था। कुछ दिन पहले ही वह जेल से छूट कर आया था।

गैंगेस्टर एक्ट में बंद था
आरोपी आहद बताया कि उसकी मां की हत्या करीब 1 साल पहले हुई थी। जिसमें वह, समीर, शाहरुख, उसका पिता आस मोहम्मद, उसके पिता की दूसरी पत्नी भूरी उर्फ तबस्सुम जेल गए थे। समीर फिर से गैंगेस्टर एक्ट में जेल चला गया था। अभी एक डेढ़-महीने पहले ही रिहा होकर आया था। घटना वाले दिन विधायक और आरोपी के ताऊ वहाब चौधरी ने उसे अपने घर बुलाया। वह अपने साथियों अनस, आफताब, नदीम उर्फ घोड़ा और बिलाल के साथ उनके घर गया था। वहां उनका लड़का आदिल भी मौजूद था।

विधायक ने हत्या के लिए उकसाया
घर पर बसपा के पूर्व विधायक वहाब चौधरी ने उसे समीर की हत्या करने के लिए उकसाया। कहा कि अब तक तुम्हारे पिता जेल में हैं। जबकि तबस्सुम और समीर खुले में घूम रहे हैं। इससे हमारी काफी बदनामी हो रही है। इसलिए समीर को मार दो। उन्होंने अपने बेटे आदिल से आरोपी को पिस्टल देने के लिए कहा। आदिल ने उसे पिस्तौल दी। इसके बाद उसने 10 जुलाई की शाम को पानी पीने के बहाने समीर को बुलाया। रात करीब 10:00 बजे प्रीत विहार कब्रिस्तान के पास ज्वार के खेत में ले जाकर समीर की गोली मारकर हत्या कर दी।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.