महिला ने प्रेमी के साथ मिलकर खुद पर चलवाई गोली, पति और बेटे को फंसाने के लिए रचा षड्यंत्र, जानिए पूरा मामला

गाजियाबाद : महिला ने प्रेमी के साथ मिलकर खुद पर चलवाई गोली, पति और बेटे को फंसाने के लिए रचा षड्यंत्र, जानिए पूरा मामला

महिला ने प्रेमी के साथ मिलकर खुद पर चलवाई गोली, पति और बेटे को फंसाने के लिए रचा षड्यंत्र, जानिए पूरा मामला

Tricity Today | बेबी चौधरी

महिला ने प्रेमी के साथ मिलकर खुद पर चलवाई गोली, पति और बेटे को फंसाने के लिए रचा षड्यंत्र, जानिए पूरा मामला Ghaziabad : सब्जी मंडी के सामने ऑटो से उतरते वक्त हुए महिला पर जानलेवा हमले के मामले का इंदिरापुरम पुलिस ने घटना के 48 घंटे बाद घटना का खुलासा करते हुए घायल महिला और उसके प्रेमी समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जिनके कब्जे से घटना में प्रयुक्त स्कूटी, तंमचा, खून से सने कपड़े बरामद किए है। घायल महिला ने अपने पति और बेटे को फंसाने के लिए प्रेमी के साथ मिलकर भाड़े के शूटर से खुद पर हमला कराया था। जिसके बाद वह झूठी एफआईआर दर्ज कराकर पति औरबेटे को फंसाना चाहती थी और प्रेमी के साथ रहना चाहती थी। वहीं शूटर फरार है, जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस प्रयास कर रही है। 

शूटर फरार, तलाश जारी
गुरूवार को घटना का खुलासा करते हुए सीओ इंदिरापुरम अभय कुमार मिश्र ने बताया कि इंदिरापुरम थाना प्रभारी संजय पाण्डेय, एसआई यतेन्द्र कुमार, दिव्यप्रताप सिंह की संयुक्त टीम ने बेबी चौधरी पत्नी राजीव चौधरी निवासी त्यागी मार्केट घूकना नंदग्राम, प्रेमी बिजय बैसला पुत्र जयसिंह बैसला निवासी सर्वोदय नगर विजयनगर, सुनील कुमार पुत्र जगयपाल सिंह नागर निवासी सेक्टर-9 विजयनगर को वंसुधरा अटलान्टा हास्पिटल के पास मिग्सन सोसायटी के पास से गिरफ्तार किया है। वहीं शूटर कपिल अभी फरार है। जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस प्रयास कर रही है। 

पत्नी ने पति और बेटे के खिलाफ दी शिकायत
सीओ इंदिरापुरम ने बताया कि 7 सितम्बर को सुबह करीब 7 बजे इंदिरापुरम थानाक्षेत्र में सब्जी मंडी के सामने ऑटो से उतरते वक्त महिला बेबी चौधरी को गोली मारने की सूचना मिली थी। घायल महिला को उपचार के लिए वंसुधरा अटलान्टा हास्पिटल में भर्ती कराया गया था। बेबी की शिकायत पर उसके पति राजीव चौधरी और बेटे उत्तर चौधरी के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी। मगर जांच में शिकायतकर्ता महिला ही आरोपी पाई गई। 

महिला के नाम 2 करोड़ रुपए की सम्पति
उन्होंने बताया कि राजीव चौधरी नशे का आदी था, जिसके इलाज के लिए महिला ने विजयनगर स्थित विजय बैंसला के नशामुक्ति केन्द्र में भर्ती कराया था। वहीं उसकी मुलाकात विजय से हुई और फिर दोनों के बीच संबंध बन गए। सीओ ने बताया कि घूकना में बेबी के नाम डेढ़ करोड़ रूपए कीमत का मकान है और साहिबाबाद में भी करीब 50 लाख रूपए कीमत की दुकान है। जिनके प्रोपर्टी के कागज विजय बैंसला के पास थे। जिसे लेकर पूर्व में दोनों प्रॉपर्टी के पेपर विजय बैंसला के पास थे। जिसे लेकर पूर्व में उसके बेटे उत्तम चौधरी ने अपनी मां बेबी, विजय बैंसला और विशाल गुर्जर के खिलाफ नंदग्राम थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। इस मामले में तीनों आरोपियों ने कोर्ट से अंतरिम जमानत करा ली थी। 
पति और बेटे को फंसाकर प्रेमी के साथ रहना चाहती थी महिला
महिला के प्रेमी ने उसे उसके पति से दूर करने और उसकी प्रोपर्टी पर कब्जा लेने और पति और बेटे से बदला लेने के लिए पूरा षडयंत्र रचा। इंदिरापुरम थाना प्रभारी संजय पाण्डेय ने बतायाकि महिला ने खुद पर हमला कराने के लिए प्रेमी की मदद से 50 हजार रूपए में भाड़े का शूटर तय किया था। जिसे 20 हजार रूपए पहले दे दिया था बाकि काम होने के बाद देने थे। षडय़ंत्र के मुताबिक 7 सितंबर की सुबह जब महिला सब्जी मण्डी के पास ऑटो से उतरी तभी बाइक सवार कपिल महिला को गोली मारकर फरार हो गया था। गोली महिला के कंधे में लगी थी। फिर महिला ने पति और बेटे को फंसाने के लिए दोनों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई। घटना के दौरान उसका प्रेमी भी स्कूटी से ऑटों के पीछे चल रहा था।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.