13 साल का लड़के 6 वर्षीय बच्ची को बनाना चाहता था शिकार, रेप में विफल होने पर ईंट से कुचला सिर

Ghaziabad : 13 साल का लड़के 6 वर्षीय बच्ची को बनाना चाहता था शिकार, रेप में विफल होने पर ईंट से कुचला सिर

13 साल का लड़के 6 वर्षीय बच्ची को बनाना चाहता था शिकार, रेप में विफल होने पर ईंट से कुचला सिर

Google Image | Symbolic Image

गाजियाबाद : गदाना गांव में 6 साल की बच्ची की हत्या का मामला सामने आया था। हत्या के 24 घंटे के बाद हत्या करने का खुलसा हुआ है। मिली जानकारी के मुताबिक  दुष्कर्म सफल न होने पर 13 वर्ष  के बच्चे ने सर पर ईंट मार कर बच्ची की हत्या कर दी थी हत्या करने के बाद स्कूल चला गया था। हत्या करने के दौरान उसकी कमीज में खून के कुछ धबे मिलने से मामले का खुलाशा हुआ है। फिलहाल पुलिस ने आरोपी को बाल सुधार गृह भेज दिया है। 

क्या था मामला 
दरअसल गांव गदाना में शनिवार सुबह घर के बाहर खेल रही बच्ची का सर में ईटी से वॉर कर हत्या करने का मामला सामने आया था। वारदात को अंजाम देने के बाद बच्ची के शव को खाली पड़े प्लॉट में फेंक दिया गया था। कई घंटे तक बच्ची के ना मिलने पर परिवार वाले शोर मचाकर बच्ची को यहां वहां ढूढ़ने लगे। बच्चे को ढूढ़ने के बाद उसकी लाश पास ही खाली पड़े प्लॉट में बिटौड़े के पास मिली। 
इस पूरी घटना के बाद परिवार में आक्रोश अधिक बढ़ गया जिसके कारण मोदीनगर-हापुड़ मार्ग में परिजानों ने जमकर हंगामा करना शुरू कर दिया। इस घाटना के खुलसे के लिए गाजियाबाद पुलिस की करीब 8 टीम गठित की गयी।

बच्चे ने कैसे दिया वारदात को अंजाम  
 पुलिस पूछताछ में कक्षा छः के एक बच्चे ने खुलसा करते हुए बताया कि शनिवार सुबह वह 9 बजे के करीब बच्ची को खाने का सामान दिलाने के बहाने अपने साथ लेकर गया। जिसके बाद खाली प्लाट देखकर बिटौड़े के पीछे बच्चे के कपड़े उतारकर गलत करने का प्रयास किया। छोटी बच्ची ने चिल्लाना शुरू कर दिया जिसके बाद बच्चा डर गया और उसने पास पड़ी ईटी को उठाकर बच्ची के सर पर लगातार वार किया। सर पर गहरी चोट लगने से मासूम की मौके पर ही मौत हो गई। उसी हालत में छोड़कर वह अपने घर चला गया। बच्चों ने पुलिस को यह भी बताया कि हत्या करने के बाद पहले उसने घर जाकर अपने हाथ धोए और खून के धब्बे लगी कमीज को धोकर सूखने के लिए डाल दिया।  और दूसरी शर्ट पहनकर स्कूल चला गया था। 

पुलिस ने कैसे किया खुलासा 
बच्ची की दर्दनाक मौत के बाद पुलिस ने गांव भर में सर्च अभियान शुरू कर दिया। पुलिस ने बताया कि जब वह एक घर के अंदर गए तो आंगन में पेड़ पर एक शर्ट सुखी दिखी तो पुलिस को शक हुआ। शक होने पर पुलिस ने पूछ्ताछ की और बच्चे को स्कूल से पकड़ कर मोदी पोन पुलिस चौकी लेगए। पहले तो बचे ने पुलिस को गुमराह करने की पूरी कोशिश की लेकिन थोड़ी ही देर में उसने सब कुछ खुद बता दिया।  बच्चे ने यह भी बताया कि वह काफी दिनों से बच्चे के साथ गलत करना चाहता था लेकिन उसे मौका नहीं मिला पा रहा था। 

विधायक और जिलााधिकारी देंगे आर्थिक मदद
रविवार सुबह विधायक डॉ. मंजू शिवाच और जिलााधिकारी शुभांगी शुक्ला पीड़ित परिवार के घर पहुंची जिसके बाद परिवार को आर्थिक मदद देने का आश्वासन दिया। रात दो बजे बच्ची का शव पोस्टमॉर्टम के बाद घर पंहुचा। रविवार सुबह 11 बजे बच्ची का अंतिम संस्कार हुआ।अंतिम संस्कार के दौरान भारी मात्रा में लोग वहां मौजूद रहे बताया जा रहा है आरोपित का पिता भी एनडीपीएस एक्ट के तहत जेल में बंद है। आरोपी बच्चे को बाल सुधार गृह भेज दिया गया है।

Copyright © 2022 - 2023 Tricity. All Rights Reserved.