Tricity Today Fact Check : गाजियाबाद में गिरा रैपिड रेल कॉरिडोर का पुल, जानिए क्या है वायरल वीडियो की हकीकत

गाजियाबाद में गिरा रैपिड रेल कॉरिडोर का पुल, जानिए क्या है वायरल वीडियो की हकीकत

Tricity Today | वायरल वीडियो की फोटो

इस समय सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफी तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो को शेयर करते हुए बताया जा रहा है कि "यह वीडियो गाजियाबाद में स्थित मोदीनगर का है। जहां मेरठ-दिल्ली स्पीड ट्रेन के निर्माण के दौरान पुल गिर गया है। जिसमें काफी दर्जभर से ज्यादा लोग नीचे दबकर मर गए है।" आपके अपने न्यूज़ पोर्टल ट्राईसिटी टुडे ने इस वीडियो की काफी गंभीरता से जांच की है। जिसमें बाद हम आपको इस वीडियो की सच्चाई के बारे में बतायेंगे।
गाजियाबाद नहीं वाराणसी का है मामला
दरअसल, यह वीडियो गाजियाबाद के मोदीनगर का नहीं है। यह वीडियो वाराणसी का है। 15 मई 2018 की शाम को वाराणसी में कैंट रेलवे स्टेशन के पासराज्य सेतु निगम द्वारा बनाए जा रहे चौकघाट लहरतारा फ्लाईओवर पिलर संख्या 79 और 80 के बीच का हिस्सा अचानक गिर जाने से उसके नीचे दबकर कम से कम 18 व्यक्तियों की मौत हो गई थी। इस हादसे में 11 अन्य लोग घायल भी हो गए थे।

सात इंजीनियर समेत आठ पर गिरी थी गाज
उत्तर प्रदेश पुल निर्माण निगम इस 2261 मीटर लंबे फ्लाईओवर का निर्माण 129 करोड़ की लागत से कर रहा था। फ्लाईओवर का जो हिस्सा गिरा है, उसे तीन महीने पहले ही बनाया गया था। पुलिस गिरने के बाद इस मामले में काफी अधिकारियों पर गाज भी गिरी थी। इस मामले में सात इंजीनियर और एक ठेकेदार समेत आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

जिसमें मुख्य परियोजना प्रबंधक हरिश्चंद्र तिवारी, पूर्व मुख्य परियोजना प्रबंधक गेंदा लाल, परियोजना प्रबंधक कुलजश राय सूदन, सहायक अभियंता राजेंद्र सिंह, सहायक अभियंता (यांत्रिक सुरक्षा) राम तपस्या सिंह यादव, अवर अभियन्ता (सिविल) लालचंद सिंह, अवर अभियंता (सिविल) राजेश पाल सिंह और ठेकेदार साहेब हुसैन था।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.