गाजियाबाद में एक ही पंडाल के नीचे 'मन्त्र' और 'कुबूल है' की आवाज गूंजी, 3000 जोड़े पवित्र बंधन में बंधे

सदा सुहागन रहो बेटी : गाजियाबाद में एक ही पंडाल के नीचे 'मन्त्र' और 'कुबूल है' की आवाज गूंजी, 3000 जोड़े पवित्र बंधन में बंधे

गाजियाबाद में एक ही पंडाल के नीचे 'मन्त्र' और 'कुबूल है' की आवाज गूंजी, 3000 जोड़े पवित्र बंधन में बंधे

Google Image | गाजियाबाद जनपद में 3000 जोड़ें एक पवित्र बंधन में बंध गए हैं।

गाजियाबाद में एक ही पंडाल के नीचे 'मन्त्र' और 'कुबूल है' की आवाज गूंजी, 3000 जोड़े पवित्र बंधन में बंधे Ghaziabad : उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जनपद में 3000 जोड़ें एक पवित्र बंधन में बंध गए हैं। एक ही पंडाल के नीचे जहां एक तरफ पंडितों ने 'मंत्र उच्चारण' किया। वहीं, दूसरी ओर पंडाल में से 'कबूल है' की आवाज भी गूंजी है। गाजियाबाद में एक ही पंडाल के नीचे 3000 जोड़े पवित्र बंधन में बंधे हैं। इस सामूहिक विवाह कार्यक्रम में कुल 22.50 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। हर जोड़े को 75 हजार रुपए भी दिए गए हैं। इस कार्यक्रम में गाजियाबाद के सांसद वीके सिंह और उत्तर प्रदेश शासन के रोजगार मंत्री अनिल राजभर मौजूद रहे। उन्होंने सभी जोड़ों को आशीर्वाद दिया और नए जीवन की शुभकामनाएं दी। यह कार्यक्रम गाजियाबाद की कमला नेहरू नगर मैदान में किया गया है।

30,000 लोगों के खाने की व्यवस्था
इस कार्यक्रम में करीब 30,000 लोगों ने हिस्सा लिया है। उत्तर प्रदेश शासन की तरफ से सभी लोगों के लिए खाने-पीने और नाश्ते की व्यवस्था की गई। खाने में मटर पनीर की सब्जी, छोले-चावल और रसगुल्ले आदि आइटम थे। इसके अलावा नाश्ते में चाय, कॉफी, ब्रेड-पकोड़े, समोसे और पकौड़ी आदि थी। इन सबके लिए उत्तर प्रदेश राजस्व विभाग ने पैसा दिया। इसके अलावा हर एक जोड़े को 75,000 रुपए भी दिए गए हैं।

तीन जिलों की बेटियों की शादी हुई, सबको मिले 75-75 हजार रुपए
यह सामूहिक विवाह सुबह 9:00 बजे से दोपहर 3:00 बजे तक चला है। इस कार्यक्रम में गाजियाबाद की 1710, बुलंदशहर की 794 और हापुड़ की 538 गरीब बेटियों की शादी हुई। इन बेटियों की पोशाक के लिए 10-10 हजार रुपए एडवांस में दिए और शादी के तुरंत बाद 65-65 हजार रुपए बैंक अकाउंट में भेज गए हैं।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.