अजनारा ली गार्डन सोसाइटी में धरना प्रदर्शन का 50वां दिन, निवासी बोले- जनप्रतिनिधि भी गहरी नींद में

ग्रेटर नोएडा वेस्ट : अजनारा ली गार्डन सोसाइटी में धरना प्रदर्शन का 50वां दिन, निवासी बोले- जनप्रतिनिधि भी गहरी नींद में

अजनारा ली गार्डन सोसाइटी में धरना प्रदर्शन का 50वां दिन, निवासी बोले- जनप्रतिनिधि भी गहरी नींद में

Tricity Today | अजनारा ली गार्डन सोसाइटी में धरना प्रदर्शन का 50वां दिन

अजनारा ली गार्डन सोसाइटी में धरना प्रदर्शन का 50वां दिन, निवासी बोले- जनप्रतिनिधि भी गहरी नींद में Greater Noida West : ग्रेटर नोएडा वेस्ट निवासियों ने बिल्डरों के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है। हर रविवार को किसी न किसी सोसाइटी के निवासी बिल्डर के खिलाफ सड़क पर प्रदर्शन करने निकलते हैं और नारेबाजी करते हैं। रविवार को अजनारा ली गार्डन सोसायटी के निवासियों ने प्रदर्शन किया। अजनारा ली गार्डन सोसाइटी में पिछले 50 दिनों से अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन चल रहा है। निवासी बिल्डर की नीतियों के खिलाफ धरने प्रदर्शन पर बैठे हुए हैं।

एक मूर्ति गोल चक्कर तक पैदल मार्च निकाला
सोसायटी के निवासियों ने बिल्डर की नीतियों के खिलाफ सोसाइटी से लेकर एक मूर्ति गोल चक्कर तक पैदल मार्च निकाला। इस दौरान ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण और बिल्डर की मिलीभगत का आरोप लगाते हुए नारेबाजी की। 

50 दिनों से प्रदर्शन कर रहे निवासी
सोसाइटी के निवासी मुकेश गुप्ता ने बताया कि एनपीसीएल कनेक्शन, क्लब और रजिस्ट्री के मुद्दे को लेकर पिछले 50 दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं। बिल्डर के खिलाफ सोसाइटी के निवासियों ने मोर्चा खोला हुआ है। मुकेश गुप्ता ने बताया कि हमने प्राधिकरण से लेकर सांसद और विधायक तक को इस मामले को अवगत कराया है, लेकिन कोई भी अधिकारी या नेता हमारी समस्याओं का समाधान नहीं कर रहा है। प्राधिकरण के साथ जनप्रतिनिधि भी गहरी नींद में है।

आखिर कब तक चलेगा प्रदर्शन
सोसायटी के निवासियों ने बताया कि जब तक बिल्डर की नींद नहीं टूट जाएगी। तब तक हम प्रदर्शन करते रहेंगे। निवासियों ने अपनी गाढ़ी कमाई बिल्डर को दे दी। निवासियों का आरोप है कि बिल्डर द्वारा लगातार निवासियों को परेशान किया जा रहा है। सारा पैसा देने के बावजूद भी वो अपने घर में किरायेदार के रूप में रह रहे हैं। निवासियों का कहना है कि कोई भी अफसर हमारी सुनने के लिए तैयार नहीं है। इसलिए हम प्रदर्शन करने के मजबूर है।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.