सुपरटेक इकोविलेज हाउसिंग सोसायटी में कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा, सैकड़ों लोगों की जान खतरे में

समस्याओं का शहर ग्रेटर नोएडा वेस्ट : सुपरटेक इकोविलेज हाउसिंग सोसायटी में कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा, सैकड़ों लोगों की जान खतरे में

सुपरटेक इकोविलेज हाउसिंग सोसायटी में कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा, सैकड़ों लोगों की जान खतरे में

Tricity Today | टुटा हुआ पिलर

सुपरटेक इकोविलेज हाउसिंग सोसायटी में कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा, सैकड़ों लोगों की जान खतरे में
  • - बेसमेंट में पानी भरने से जमीन धंसी
  • - आसपास के 4 टावर में रहते हैं करीब 400 से ज्यादा परिवार 
  • - जमीन धंसने से निवासियों में बढ़ी दहशत
  • - लोगों ने प्राधिकरण से लगाई मदद की गुहार
Greater Noida West : ग्रेटर नोएडा वेस्ट समस्याओं का शहर बन गया है। जनपद में अगर सबसे ज्यादा समस्याएं हैं तो वह ग्रेटर नोएडा वेस्ट में है। अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि हर रविवार को ग्रेटर नोएडा वेस्ट की हाउसिंग सोसायटी में रहने वाले लोग विभिन्न समस्याओं को लेकर प्रदर्शन करते हैं। अब शहर में स्थित सुपरटेक इकोविलेज वन हाउसिंग सोसाइटी में बड़ी समस्या पैदा हो गई है। जिसकी वजह से करीब 400-450 परिवार परेशान हैं। सोसाइटी के बेसमेंट में पानी भर गया है, जिसकी वजह से निवासियों को बड़ी अनहोनी होने की आशंका लग रही है। ऐसे में निवासियों ने प्राधिकरण से मदद की मांग की है। प्राधिकरण द्वारा भी पूरी मदद करने का आश्वासन दिया गया है।

क्या है पूरा मामला
सोसाइटी के निवासी मनीष कुमार ने बताया कि हाउसिंग सोसायटी में एक खाली जगह है। यहां पर काफी समय से कार्य नहीं हुआ है। जिसकी वजह से बेसमेंट में पानी भरा रहता है। खाली स्थान पर कमर्शियल सेंटर के पास एसटीपी का निर्माण बिल्डर द्वारा किया जा रहा है। इसके आसपास करीब 4 टावर है। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि अब बेसमेंट में पानी भरे होने के कारण वहां पर स्थित पिलर और ऊपर से गुजरने वाली सड़क धंस गई है। जिसकी वजह से रविवार की देर शाम को गेट नंबर-1 से आने वाले वाहनों का रास्ता रोक दिया गया है। पानी भरा होने के कारण पिलर काफी कमजोर हो गए हैं। बेसमेंट में पानी भरा होने के कारण काफी समस्या पैदा हो गई है और जमीन अंदर धंस गई है।

400 से 450 परिवारों में बढ़ी दहशत
यह मामला सामने आने के बाद वहां के निवासी काफी परेशान हो गए हैं। जहां पर जमीन धंसी है, वहां पर करीब 4 टावर है। इन सभी टावरों में करीब 400 से 450 परिवार रहते हैं। इन सभी की समस्या बढ़ने लगी हैं। निवासियों का कहना है कि अगर उनके पास में स्थित खाली प्लॉट की जमीन धंस गई है तो जिस जमीन पर उनकी बिल्डिंग खड़ी हुई है, वहां पर जमीन क्यों नहीं धंसी होगी? सोसायटी के निवासियों ने कहना है कि अगर ऐसा हुआ है तो उनकी सोसाइटी में कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। इस समय सोसायटी में रहने वाले सैकड़ों महिलाओं, बच्चों और युवाओं की जान खतरे में है। इस समय यह 400 से 450 परिवार काफी ज्यादा परेशान हैं और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण से मदद की मांग कर रहे हैं।

प्राधिकरण ने पूरी मदद का आश्वासन दिया
मनीष कुमार ने बताया कि मंगलवार को इस पूरे मामले की जांच के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की टीम सोसाइटी में पहुंची। इस दौरान उस पूरे इलाके का जायजा लिया गया, जहां पर जमीन धंसी हुई है। अधिकारियों का कहना है कि पूरे मामले की रिपोर्ट बनाकर उच्च अधिकारियों को सौंपी जा रही है। इस मामले में प्राधिकरण ने निवासियों को समस्याओं का समाधान करने का आश्वासन दिया है।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.