पंचशील ग्रीन्स-1 के निवासियों को पीटने के लिए बिल्डर ने बाउंसर भेजे, जमकर बवाल हुआ

ग्रेटर नोएडा वेस्ट : पंचशील ग्रीन्स-1 के निवासियों को पीटने के लिए बिल्डर ने बाउंसर भेजे, जमकर बवाल हुआ

पंचशील ग्रीन्स-1 के निवासियों को पीटने के लिए बिल्डर ने बाउंसर भेजे, जमकर बवाल हुआ

Tricity Today | पंचशील ग्रींस

पंचशील ग्रीन्स-1 के निवासियों को पीटने के लिए बिल्डर ने बाउंसर भेजे, जमकर बवाल हुआ Greater Noida West : ग्रेटर नोएडा वेस्ट में स्थित पंचशील ग्रीन्स-1 सोसाइटी के निवासियों और बिल्डर के बीच शुरू हुआ विवाद गहराता जा रहा है। निवासी घरों की रजिस्ट्री कराने की अपनी मांग पर अड़े हैं। जबकि सत्ता में शामिल बिल्डर उनकी मांगों को कुचलने के लिए अवैधानिक कृत्य कर रहा है। शनिवार, 9 अक्टूबर की सुबह प्रदर्शन कर रहे लोगों को हटाने के लिए बिल्डर ने बाउंसर बुलाए। इस दौरान प्रदर्शनकारियों और बिल्डर के बाउंसरों के बीच धक्का-मुक्की और मारपीट हुई। लोगों ने इसकी शिकायत पुलिस में की। मगर सत्ता के दबाव में पुलिस भी बिल्डर पर कोई एक्शन लेने के लिए तैयार नहीं है। ऐसे में निवासियों को समझ नहीं आ रहा कि इंसाफ के लिए अब किसका दरवाजा खटखटाएं।

शोषण कर रहा बिल्डर
जानकारी के मुताबिक वेस्ट में स्थित पंचशील ग्रीन्स वन सोसाइटी के निवासी आज सुबह बिल्डर कार्यालय पर जमा हुए थे। वे घरों की रजिस्ट्री के लिए प्रदर्शन कर रहे थे। उसी दौरान बिल्डर ने वहां अपने बाउंसर भेजे। उन्होंने प्रदर्शनकारियों को डराना-धमकाना शुरू किया। उनके साथ अमर्यादित व्यवहार किया। बात धक्का-मुक्की तक पहुंची। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। हालात की गंभीरता को समझते हुए पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन कोई कार्रवाई करने से बचती रही। निवासियों का कहना है कि उनके घरों की रजिस्ट्री जब तक हो नहीं जाती, उनका प्रदर्शन जारी रहेगा। वे बिल्डर ऑफिस के सामने ऐसे ही धरना देते रहेंगे। जबकि बिल्डर ने उन्हें खामोश कराने के लिए बाउंसर भेजने के साथ-साथ कानूनी दांवपेच शुरू किया है।

झूठा मुकदमा दर्ज कराया
निवासियों का कहना है कि विरोध-प्रदर्शन को रोकने के लिए बिल्डर ने निवासियों पर ही 10 लाख रुपये के मानहानि का मामला दर्ज कराया है। इसकी जानकारी उन्हें ईमेल के जरिए दी जा रही है। इसमें सभी कानूनी पेपर अटैच किए गए हैं। बिल्डर के इस दमनकारी रवैये से सभी निवासी रोष में है। उनका कहना है कि उन्होंने अपने पूरे जीवन की कमाई घर खरीदने में लगा दी। मगर बिल्डर ना तो रजिस्ट्री कराने के लिए तैयार है, ना ही बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए। यहां तक कि संवैधानिक तरीके से उनकी मांग को भी कुचल रहा है। बाउंसर भेज रहा है। कॉल कर लोगों को धमकाया जा रहा है। झूठे मुकदमे कर रहा है।

सत्तासीन नेता का डर है
दरअसल पंचशील सोसाइटी का विवाद इसलिए भी ज्यादा गहरा है, क्योंकि इसके मालिक शहर के एक बड़े सत्तासीन राजनेता हैं। पंचशील के बोर्ड आफ डायरेक्टर्स में सरकार के एक कद्दावर नेता शामिल हैं। इसी के चलते जिले के जनप्रतिनिधि भी इस मामले में निवासियों की मदद करने से बचते रहते हैं। सांसद, विधायक कोई भी लोगों की समस्याएं सुलझाने की इच्छाशक्ति नहीं दिखाता। इसकी वजह से बॉयर परेशान हैं। वे अपने ही घर में किराएदार बने हुए हैं। बताते चलें कि रजिस्ट्री कराने और बुनियादी सुविधाएं देने की मांग को लेकर निवासी पिछले कई हफ्तों से लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.