सीपीसीबी के आदेशों का नहीं हो रहा पालन, कूड़े के ढेर में रहने को मजबूर लोगों ने किया प्रदर्शन

ग्रेटर नोएडा वेस्ट : सीपीसीबी के आदेशों का नहीं हो रहा पालन, कूड़े के ढेर में रहने को मजबूर लोगों ने किया प्रदर्शन

सीपीसीबी के आदेशों का नहीं हो रहा पालन, कूड़े के ढेर में रहने को मजबूर लोगों ने किया प्रदर्शन

Social Media | धरना प्रदर्शन

सीपीसीबी के आदेशों का नहीं हो रहा पालन, कूड़े के ढेर में रहने को मजबूर लोगों ने किया प्रदर्शन Greater Noida West : ग्रेटर नोएडा वेस्ट के टेकजोन 4 में स्थित मेफेयर रेसीडेंसी (Mayfair Residency) के निवासियों ने लगातार 18वें हफ्ते धरना प्रदर्शन कर बिल्डर के खिलाफ नाराजगी जताई।  निवासियों ने बिल्डर के कंप्लेंट रजिस्टर में भी अपनी समस्या दर्ज कराई। साथ ही उन्होंने प्राधिकरण (Greater Noida Authority) और सरकार के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर किया। सोसाइटी में गंदगी का अंबार लगा हुआ है। लेकिन केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के स्पष्ट आदेश के बावजूद प्राधिकरण या उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने अब तक बिल्डर के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया है। लोग गंदगी में रहने को मजबूर हैं।

बताते चलें कि ग्रेटर नोएडा के टेकजोन 4 में स्थित मेफेयर रेसिडेंसी के निवासी अपनी बुनियादी सुविधाओं जैसे पानी, बिजली और सुरक्षा को लेकर 18 हफ्ते से प्रदर्शन कर रहे हैं। रविवार को भी उन्होंने बिल्डर के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और अपना गुस्सा जाहिर किया। बिल्डर अपनी मनमानी से बाज नहीं आ रहा। साफ-सफाई के नाम पर सोसाइटी में कुछ नहीं है। सुरक्षा से हमेशा समझौता होता है। रविवार को निवासियों ने बिल्डर के कंप्लेंट रजिस्टर में भी अपनी सारी समस्याएं लिखी।

यहां तक कि बिल्डर सोसाइटी में जमा पानी को भी साफ नहीं कराता। सैकड़ों निवासी वेक्टर जनित रोगों के डर से खौफ में जी रहे हैं। आए दिन वे खुद साफ-सफाई करते हैं। बीते दिनों सोसाइटी के लोगों ने केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) को इस संबंध में शिकायत दी थी। 18 अक्टूबर को सीपीसीबी ने उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को इस पर एक्शन लेने के लिए कहा था। साथ ही इसकी जानकारी मांगी थी। 

लेकिन 24 अक्टूबर को निवासियों ने कुछ तस्वीरें केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को साझा किए हैं। इसमें स्पष्ट दिखाई दे रहा है कि अभी भी सोसाइटी में कूड़े के ढेर लगे हुए हैं। निवासियों का कहना है कि पहले बिल्डर सिर्फ उनका उत्पीड़न करता था। लेकिन अब प्राधिकरण की शह पर केंद्रीय और राज्य स्तरीय एजेंसियों को भी ठेंगा दिखा रहा है। निवासियों ने बताया कि अगर उनकी मांगे पूरी नहीं हुई, तो अगले रविवार को फिर प्रदर्शन कर विरोध दर्ज कराया जाएगा।  रहेगा

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.