Greater Noida West: पैरामाउंट इमोशंस सोसायटी की लिफ्ट में कुत्ते के साथ फंसे रहे पूर्व सैनिक, बेसुध हालत में बाहर निकाला गया

पैरामाउंट इमोशंस सोसायटी की लिफ्ट में कुत्ते के साथ फंसे रहे पूर्व सैनिक, बेसुध हालत में बाहर निकाला गया

Google Photo | पैरामाउंट इमोशंस सोसायटी

ग्रेटर नोएडा वेस्ट की सोसाइटीज में लिफ्ट में लोगों के फंसने का सिलसिला जारी है। सोमवार को पैरामाउंट इमोशंस सोसाइटी में दोपहर 3:00 बजे पूर्व सैनिक बृजपाल सिंह अपने पालतू कुत्ते के साथ करीब 25 मिनट तक लिफ्ट में फंसे रहे। इस दौरान उन्होंने लिफ्ट में लगे फोन से मेंटेनेंस टीम को इस बावत सूचना देने की कोशिश की। लेकिन नंबर नहीं मिला। करीब 25 मिनट बाद उनको लिफ्ट से बेहोशी की हालत में बाहर निकाला गया। इस घटना के बाद से सोसायटी में रहने वाले लोगों में रोष है। निवासियों का कहना है कि बिल्डर को समय से हर तरह के शुल्क की अदायगी की जा रही है। लेकिन सुविधाओं के नाम पर सही लिफ्ट और पॉवर बैकअप तक उपलब्ध नहीं है। पीड़ित ने घटना की शिकायत बिल्डर से की है। 

बताते चलें कि कांग्रेस सेवा दल, नोएडा के महासचिव बृजपाल पैरामाउंट इमोशंस सोसायटी के ई टावर में 15वें फ्लोर पर रहते हैं। उन्होंने बताया कि सोमवार की दोपहर करीब 3:10 बजे वह अपने पालतू कुत्ते के साथ ऊपर जा रहे थे। इसी दौरान बिजली चली गई और लिफ्ट रूक गई। उनके पास मोबाइल फोन भी नहीं था। उन्होंने थोड़ी देर लाइट आने का इंतजार किया। इसके बाद लिफ्ट में लगे फोन से मेंटेनेंस टीम को सूचना देने का प्रयास किया। लेकिन उनकी बात नहीं हो पाई। काफी देर तक जब बृजपाल वापस नहीं लौटे, तो उनकी पत्नी और बेटा उनको ढूंढने के लिए बाहर निकले। तब लिफ्ट बंद थी। वे दोनों सीढ़ियों से उतर रहे थे। इसी दौरान उन्हें लिफ्ट से बृजपाल की आवाज सुनाई दी। परिजनों ने 12वें और 13वें फ्लोर के सुरक्षाकर्मियों से मेंटेनेंस ऑफिस में कॉल कराया। तब जाकर कहीं उन्हें बेहोशी की हालत में बाहर निकाला जा सका। 

जैसे ही इस घटना की जानकारी सोसायटी के लोगों को हुई, सब आक्रोशित हो गए। उनका कहना है कि समय पर मेंटेनेंस देने के बाद भी पॉवर बैकअप चालू नहीं किया गया। मेंटेनेंस टीम ने बताया कि लिफ्ट में लिखे नंबर पुराने हैं और बंद हो चुके हैं। इसीलिए उनकी कॉल कनेक्ट नहीं हो रही थी। उन्होंने बताया कि पहले भी दो बार उनकी पत्नी और बेटा लिफ्ट में फंस चुके हैं। कांग्रेस सेवा दल के अध्यक्ष विक्रम सेठ ने बताया कि इस पूरे मामले को जिला अधिकारी के संज्ञान में लाया जाएगा। डीएम सुहास एलवाई से भेंट कर बिल्डर की शिकायत की जाएगी और उनसे कार्रवाई करने का अनुरोध किया जाएगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.