जीएम ने आवासीय सेक्टरों का दौरा किया, एक सप्ताह में होगा समस्याओं का समाधान

ग्रेटर नोएडा वेस्ट : जीएम ने आवासीय सेक्टरों का दौरा किया, एक सप्ताह में होगा समस्याओं का समाधान

जीएम ने आवासीय सेक्टरों का दौरा किया, एक सप्ताह में होगा समस्याओं का समाधान

Tricity Today | जीएम ने आवासीय सेक्टरों का दौरा किया

जीएम ने आवासीय सेक्टरों का दौरा किया, एक सप्ताह में होगा समस्याओं का समाधान ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण (Greater Noida Authority) के अधिकारियों ने शनिवार को ग्रेटर नोएडा वेस्ट के सेक्टर-2 और 3 का निरीक्षण किया है। अधिकारियों ने ग्रेटर नोएडा वेस्ट के निवासियों की समस्याएं सुनी और जल्द से जल्द समाधान करवाने का आश्वासन दिया है। सेक्टर में काम कर रही एजेंसियों से कहा है कि जो भी समस्याएं हैं, उन्हें एक हफ्ते में दुरुस्त किया जाए। अगर काम नहीं हुआ तो उन पर कार्यवाही की जाएगी। 

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के जीएम (परियोजना) एके अरोड़ा और उनकी टीम ने शनिवार को ग्रेटर नोएडा वेस्ट के आवासीय सेक्टरों का दौरा किया है। टीम ने सेक्टर-2 और सेक्टर-3 का निरीक्षण किया है। उनके साथ सेक्टर की आरडब्ल्यूए के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे। लोगों ने प्राधिकरण के अधिकारियों को बताया कि यहां पर ड्रेन, सड़क, पार्कों की बदहाली समेत तमाम समस्याएं हैं। इन समस्याओं का निराकरण किया जाना चाहिए। 

इस पर जीएम एके अरोड़ा ने वहां कार्य कर रही एजेंसी से कहा है कि वह सभी समस्याओं का एक सप्ताह में समाधान करें। अगर समस्या का समाधान नहीं हुआ तो उनके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। आपको बता दें कि ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी का एक कार्यालय गौतम बुद्ध बालक इंटर कॉलेज में बनवाया गया है। पिछले सप्ताह से वहां एक दिन सीईओ ने बैठने की शुरुआत की है। इसके बाद वेस्ट से जुड़ी समस्याओं के समाधान ने गति पकड़ी है।

अभी तक शहर के लोगों को अपनी समस्याएं लेकर ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के मुख्यालय जाना पड़ता था। ग्रेटर नोएडा वेस्ट से अथॉरिटी हेड क्वार्टर की दूरी 20 किलोमीटर से ज्यादा है। जिसकी वजह से आम आदमी को परेशानी हो रही थी। ग्रेटर नोएडा वेस्ट के निवासियों की मांग पर अथॉरिटी के सीईओ ने सप्ताह में एक दिन गौतम बुद्ध बालक इंटर कॉलेज में बनाए गए कार्यालय में बैठने की घोषणा की है। इतना ही नहीं इस बार के बजट में वेस्ट में एक नया कार्यालय खोलने के लिए भी प्रावधान किया गया है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.