Greater Noida West : डॉक्टर ने ओएलएक्स पर फर्नीचर बेचने का डाला विज्ञापन, ठग ने ऐसी बुद्धि बांधी कि खुद ही दे दिए 62 हजार रुपये, जानिए पूरा मामला

डॉक्टर ने ओएलएक्स पर फर्नीचर बेचने का डाला विज्ञापन, ठग ने ऐसी बुद्धि बांधी कि खुद ही दे दिए 62 हजार रुपये, जानिए पूरा मामला

Google Image | प्रतीकात्मक फोटो

ओएलएक्स पर ठगी का एक और मामला सामने आया है। इस बार ठग ने खुद को आर्मी का जवान बताकर वारदात को अंजाम दिया। ठग ने हॉस्पिटल के एक डॉक्टर से 62 हजार रुपये ठग लिए। पीड़ित डॉक्टर ने ओएलएक्स साइट पर अपना फर्नीचर बेचने के लिए विज्ञापन दिया था। ठग ने उनसे फर्नीचर खरीदने की बात की और ठगी की घटना की। पीड़ित ने बिसरख थाने में इस संबंध में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और मामले की जांच कर रही है।

पुलिस ने बताया कि पीड़ित डॉक्टर ग्रेटर नोएडा वेस्ट के टेक जोन-4 स्थित गौर सौंदर्यम के शैरन टावर में रहते हैं। वह नोएडा सेक्टर-62 स्थित एक हॉस्पिटल के डॉक्टर हैं। उनके पास एक पुराना फर्नीचर पड़ा था। जिसे बेचने के लिए उन्होंने ओएलएक्स साइट पर इसका विज्ञापन दिया था। गत 22 दिसंबर की दोपहर उनके पास एक फोन कॉल आई। फोनकर्ता ने खुद को इंडियन आर्मी का जवान बताया। उसने कहा कि वह पीड़ित की सोसाइटी के पास ही रहता है। फोनकर्ता फर्नीचर खरीदने के लिए तैयार हो गया। फोनकर्ता ने ऑनलाइन पेमेंट के लिए एक क्यूआर कोड भेजा। जब पीड़ित ने क्यूआर कोड स्कैन किया तो उनके बैंक खाते से पैसे कट गए। अगले दिन, 23 दिसंबर को ठग ने फिर से उन्हें कॉल किया और क्यूआर कोड स्कैन करने के लिए कहा। 

पीड़ित डॉक्टर ने बताया कि उनका आईसीआईसीआई बैंक में ज्वॉइंट एकाउंट है। उनके खाते से कई बार ट्रांजैक्शन कर 62 हजार रुपये काटे गए हैं। जब ठग से रुपये कटने के बारे में बात की गई, तो उसने बताया कि वह आर्मी में कैंटीन की पेमेंट कर रहा है। उसने भरोसा दिलाया कि थोड़ी देर में सारे पैसे वापस आ जाएंगे। पर काफी देर बाद भी उनके खाते में कोई रकम जमा नहीं हुई। जब उन्होंने ठग से बात करने की कोशिश की, तो उसका फोन बंद आ रहा था। इस संबंध में बिसरख थाना प्रभारी मुनीष चौहान ने बताया कि चिकित्सक की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच शुरू कर दी गई है। जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.