ग्रेटर नोएडा वेस्ट में एक बिल्डर ऐसा भी, निवासियों को दो महीने का मेंटिनेंस चार्ज लौटाया, लोग खुश

अच्छी खबर : ग्रेटर नोएडा वेस्ट में एक बिल्डर ऐसा भी, निवासियों को दो महीने का मेंटिनेंस चार्ज लौटाया, लोग खुश

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में एक बिल्डर ऐसा भी, निवासियों को दो महीने का मेंटिनेंस चार्ज लौटाया, लोग खुश

Tricity Today | चेरी काउंटी हाउसिंग सोसायटी

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में एक बिल्डर ऐसा भी, निवासियों को दो महीने का मेंटिनेंस चार्ज लौटाया, लोग खुश Greater Noida West News : ग्रेटर नोएडा वेस्ट में बिल्डरों पर मनमाना मेंटेनेंस चार्ज वसूलने और तरह-तरह से वसूली करने के आरोप हाउसिंग सोसाइटीज के निवासी लगाते रहते हैं। इसी बीच शहर का एक बिल्डर ऐसा भी है, जिसने मेंटेनेंस चार्ज में बचा पैसा निवासियों को वापस लौटा दिया है। सोसायटी में रहने वाले प्रत्येक परिवार को करीब दो-दो महीने का मेंटेनेंस चार्ज वापस बिल्डर ने भेजा है। इससे हाउसिंग सोसायटी के लोगों में खुशी की लहर है। निवासी बिल्डर की मुक्त कंठ से प्रशंसा कर रहे हैं।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट सेक्टर टैक्जोन-4 में चेरी काउंटी हाउसिंग सोसायटी है। बिल्डर एबीए कॉरपोरेशन का प्रोजेक्ट है। अभी कंपनी के पास ही रखरखाव की जिम्मेदारी है। सोसायटी में रहने वाले सुनील सचदेवा ने बताया, "मेरा तीन बेडरूम का फ्लैट है। बिल्डर की ओर से 6,000 रुपये हमारे खाते में वापस भेजे गए हैं। यह करीब 2 महीने के मेंटेनेंस चार्ज की बराबर धनराशि है। बिल्डर ने 4.36 रुपये प्रति वर्ग फुट की दर से यह धनराशि वापस लौटाई है। हमारी सोसाइटी में प्रतिमाह मेंटेनेंस चार्ज 1.85 रुपये प्रति वर्ग फुट लिया जा रहा है। बिल्डर के इस फैसले से सोसाइटी के लोग बेहद खुश हैं।"

सोसाइटी में रहने वाले एक अन्य निवासी मनीष त्रिपाठी ने कहा, "शहर में एक और बिल्डर अपने निवासियों से मनमानी वसूली करने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। दूसरी ओर हमारी सोसाइटी के बिल्डर ने दो महीने से ज्यादा मेंटेनेंस चार्ज वापस लौटा दिया है। मेरा फ्लैट 3 बैडरूम का है और क्षेत्रफल करीब 1,206 वर्ग फुट है। बिल्डर सोसाइटी में आए थे। उन्होंने निवासियों के साथ बैठक की। मेंटेनेंस चार्ज से जुड़ा पूरा हिसाब किताब पेश किया। इसके बाद धनराशि वापस लौटाने की जानकारी दी। करीब एक सप्ताह पहले सभी निवासियों के खातों में पैसा वापस आ गया है। इससे सोसाइटी के लोग संतुष्ट हैं।"

इस बारे में एबीए कॉरपोरेशन के डायरेक्टर अमित मोदी ने कहा, "हमने निवासियों से हाउसिंग सोसायटी का रखरखाव करने के लिए 1 अप्रैल 2020 से 31 मार्च 2021 तक चार्जेज लिए थे। बीते साल के दौरान लॉकडाउन लागू रहा। कोरोनावायरस के कारण फैली महामारी के बीच कुछ खर्चे कम हो गए थे। पूरे साल खर्च करने के बाद जो पैसा बचा था, वह निवासियों को वापस लौटाने का फैसला लिया गया। सोसाइटी में प्रत्येक फ्लैट से क्षेत्रफल के आधार पर 1.85 रुपये प्रति वर्ग फुट मेंटेनेंस चार्ज लिया जा रहा है। जो पैसा निवासियों को वापस लौटाया गया है, वह 4.36 रुपए प्रति वर्ग फुट की दर से दिया है।" अमित मोदी ने आगे कहा, "यह धनराशि 2 महीने के मेंटेनेंस चार्ज से भी कुछ ज्यादा है। हम अपने निवासियों के प्रति जवाबदेह हैं। उनसे पूरे साल के दौरान लिए गए मेंटेनेंस चार्ज और उसके सापेक्ष किए गए खर्चों की पूरी जानकारी दी गई है। कंपनी ने करीब सवा दो करोड़ रुपए निवासियों को वापस लौटाए हैं।"

शहर की दूसरी हाउसिंग सोसाइटीज में मची खलबली
चेरी काउंटी हाउसिंग सोसायटी के बिल्डर की ओर से पारदर्शितापूर्ण ब्यौरा देने और खर्चे होने के बाद बचा पैसा वापस निवासियों को लौटाने की चर्चा पूरे शहर में चल रही है। शहर की दूसरी हाउसिंग सोसायटी के निवासी भी चेरी काउंटी के निवासियों से जानकारी मांग रहे हैं। इन सोसाइटी के निवासियों का कहना है कि जब चेरी काउंटी हाउसिंग सोसाइटी का खर्चा कम हुआ तो उनकी सोसाइटी में ज्यादा खर्च कैसे हो रहा है। दरअसल, शहर की कई हाउसिंग सोसायटी ऐसी हैं, जहां बिल्डर मेंटेनेंस चार्ज बढ़ा रहे हैं। उनकी मौजूदा दरें 2 से 2.50 रुपये प्रति वर्ग फुट तक हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.