महिला डॉग प्रेमी के कारण कुत्ते हुए और भी खूंखार, लोगों ने घर से निकलना किया बंद, पुलिस से नहीं मिली कोई मदद

ग्रेटर नोएडा वेस्ट : महिला डॉग प्रेमी के कारण कुत्ते हुए और भी खूंखार, लोगों ने घर से निकलना किया बंद, पुलिस से नहीं मिली कोई मदद

महिला डॉग प्रेमी के कारण कुत्ते हुए और भी खूंखार, लोगों ने घर से निकलना किया बंद, पुलिस से नहीं मिली कोई मदद

Tricity Today | बीती रात को हुआ विवाद

महिला डॉग प्रेमी के कारण कुत्ते हुए और भी खूंखार, लोगों ने घर से निकलना किया बंद, पुलिस से नहीं मिली कोई मदद Geater Noida West News : ग्रेटर नोएडा वेस्ट की हाउसिंग सोसाइटी में आवारा कुत्तों का आतंक लगातार बढ़ता जा रहा है। बीती रात को ग्रेटर नोएडा वेस्ट में स्थित स्प्रिंग मीडोज हाउसिंग सोसाइटी में इस बात को लेकर विवाद भी हुआ। लोगों का कहना है कि सोसाइटी में रहने वाली एक महिला आवारा कुत्तों को कच्चा मांस खिलाती है, जिसकी वजह से आवारा कुत्ते और भी ज्यादा खूंखार हो गए हैं। ऐसे में सोसाइटी के निवासियों में दहशत का माहौल बढ़ गया है।

सोसाइटी में इस समय 6 आवारा कुत्ते
स्प्रिंग मीडोज हाउसिंग सोसायटी के निवासी विकास कटियार ने बताया कि सोसाइटी में इस समय हर एक व्यक्ति में दहशत का माहौल बना हुआ है। सोसाइटी में इस समय 6 आवारा कुत्ते हैं। सोसाइटी में रहने वाली एक महिला डॉग प्रेमी इन कुत्तों को कच्चा मांस खिलाती हैं, जिसकी वजह से यह कुत्ते लगातार और भी ज्यादा खूंखार होते जा रहे हैं।

महिला खिलाती है कच्चा मांस
निवासियों की मांग है कि महिला सोसाइटी में नहीं बल्कि सोसायटी के बाहर इन कुत्तों को कच्चा मांस खिलाएं, लेकिन महिला डॉग प्रेमी अपनी आदतों से बाज नहीं आ रही है। मुद्दा यह है कि कच्चा मांस खाने के बाद डॉग और भी ज्यादा खूंखार हो जाते हैं। ऐसे में अगर उनको सही समय पर कच्चा मांस नहीं मिला तो वह बच्चों और व्यक्तियों के ऊपर हमला भी कर देते हैं।

6 महीने में 12 से भी ज्यादा घटना
सोसाइटी में पिछले 6 महीने के दौरान अभी तक करीब 12 से भी ज्यादा आवारा कुत्तों द्वारा लोगों काटने के मामले सामने आए हैं। हर बार विवाद होता है और हर बार किसी भी समस्या का समाधान नहीं होता। काफी बार  महिला से ऐसा नहीं करने की अपील भी की गई, लेकिन महिला लगातार कुत्तों को कच्चा मांस डालती है। यहां तक की उन्होंने अपनी स्कूटी में कच्चा मांस रखने के लिए एक जगह भी बनाई हुई है। इस मामले के बाद बच्चों का निकलना अपने फ्लैट से बंद हो गया है।

पुलिस से नहीं मिली कोई मदद
विकास कटियार ने बताया कि बीती रात को इस मामले को लेकर विवाद भी हुआ। जिसके बाद मौके पर पुलिस पहुंची। पुलिस का कहना है कि उनके पास कोई पुख्ता सबूत नहीं है। इसलिए वह कार्रवाई नहीं करेंगे। निवासियों में लगातार आवारा कुत्तों को लेकर दहशत का माहौल बढ़ता जा रहा है। लोगों ने सुबह और शाम के समय टहलना और पार्क में जाना बंद कर दिया है।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.