कोहरे की चादर में ढके शहर की ये 6 खूबसूरत फोटोज इन रेजिडेंट्स ने भेजीं

ये ग्रेटर नोएडा वेस्ट है जनाब ! कोहरे की चादर में ढके शहर की ये 6 खूबसूरत फोटोज इन रेजिडेंट्स ने भेजीं

कोहरे की चादर में ढके शहर की ये 6 खूबसूरत फोटोज इन रेजिडेंट्स ने भेजीं

Photo : रवि तिवारी | कोहरे की चादर से ढकी सोसाइटी

कोहरे की चादर में ढके शहर की ये 6 खूबसूरत फोटोज इन रेजिडेंट्स ने भेजीं Greater Noida West : फिल्मों और कहावतों में आपने 'दिल्ली की सर्दी' के चर्चे खूब सुने हैं। गणतंत्र दिवस के आसपास पूरे दिल्ली-एनसीआर में जाड़ा चरम पर होता है। माहौल ऐसा ही बन चुका है। पिछले कई दिनों से सूर्यदेव के दर्शन दुर्लभ हैं। कोहरा छाया है। चंद मिनटों के लिए धुप दिखती है। सोमवार की सुबह इस सर्दी में अब तक का सबसे घना कोहरा देखने को मिला। इसी दौरान ग्रेटर नोएडा वेस्ट से कई खूबसूरत तस्वीरें देखने के लिए मिलीं। हमें ग्रेटर नोएडा वेस्ट की गौर सिटी फर्स्ट एवेन्यू हाऊसिंग सोसायटी में रहने वाले मनीष श्रीवास्तव ने 6 फोटो भेजी हैं। जो बेहद लाजवाब हैं।

हिमाचल-उत्तराखंड जैसे नज़ारे थे

मनीष श्रीवास्तव ने बताया, ये फोटो सोमवार की सुबह करीब साढ़े सात बजे ली गई थीं। मैं उस वक्त सोकर उठा और अपने फ्लैट की बालकॉनी में पहुंचा तो नजारा बेहद दिलचस्प था। पूरा शहर दूर तक कोहरे की चादर में लिपटा था। ख़ास बात यह थी कि कोहरा करीब 20 मंजिल तक था। यहां इमारतें 25-28 मंजिल की हैं। लिहाजा, बाकी ऊपरी 6-7 मंजिल कोहरे से बाहर थीं। नजारा ऐसा था मानो हिमाचल प्रदेश या उत्तराखंड की पहाड़ियों से लिया गया हो। बदल धरती पर उतरे नजर आ रहे थे।

कोहरे से ऊपर झांकती इमारतें

मनीष श्रीवास्तव के दोस्त रवि तिवारी गौर सिटी सेवेंथ एवेन्यू, अजय गुप्ता और राम शर्मा साया ज़िओन में रहते हैं। उन्होंने सोमवार की सुबह करीब आठ बजे अपने फ्लैट की बालकॉनी से कोहरे की फोटो ली हैं। यह फोटो और ज्यादा खूबसूरत हैं। इनमें कोहरे से ऊपर झांकती इमारतें हैं और सूरज ऊपर आसमान में दिख रहा है। इन फोटो में फ्लैट की बालकॉनी का रेलिंग भी साफ नजर आ रहा है। रवि तिवारी कहते हैं, "यह नजारा लाजवाब था। हमें ऐसा अहसास हो रहा था जैसे कहीं पहाड़ी के ऊपर बैठे नीचे देख रहे हैं। चम्बा, चकराता, मनाली और मसूरी जैसा माहौल था।"
6 फरवरी तक राहत नहीं मिलेगी
अभी आने वाले कई दिन तक नोएडा और ग्रेटर नोएडा समेत पूरे दिल्ली-एनसीआर में कड़ाके की ठंड पड़ेगी। मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक 26 और 27 जनवरी को न्यूनतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाएगा और अधिकतम तापमान केवल 16 डिग्री सेल्सियस रहेगा। अगले करीब एक महीने तक न्यूनतम और अधिकतम तापमान निचले पायदान पर बने रहेंगे। मौसम विभाग का अनुमान है कि 6 फरवरी के बाद अधिकतम तापमान में इजाफा होगा। फरवरी के दूसरे सप्ताह से अधिकतम तापमान 21 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है। हालांकि, न्यूनतम तापमान में इस दौरान गिरावट ही रहेगी।
शीतलहर ज्यादा परेशान करेंगी
मौसम विभाग के वैज्ञानिकों के मुताबिक उत्तराखंड और हिमाचल के पहाड़ी क्षेत्रों में लगातार बर्फबारी चल रही है। जिसका सीधा असर मैदानी इलाकों में देखने के लिए मिल रहा है। हवाएं उत्तर से पूरब और पश्चिम की ओर बह रही हैं। जिन्होंने शीतलहर का रूप ले लिया है। अगले 10 दिनों तक दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे मैदानी इलाकों में शीत लहर परेशान करेगी। 6 फरवरी के बाद मौसम में थोड़ी गर्माहट आने की संभावना है। इस दौरान पूरे दिल्ली-एनसीआर में कोहरा छाया रहेगा। स्थानीय स्तर पर भी मौसम में बदलाव नजर आएंगे।
Image
खराब श्रेणी में नोएडा का एक्यूआई
नोएडा और ग्रेटर नोएडा में पिछले कई दिनों से बारिश पड़ रही थी। जिसकी वजह से ठंड तो बढ़ी लेकिन रेजिडेंट्स को प्रदूषण से राहत मिली थी। पिछले 2 दिनों से बारिश बंद हो गई है। लिहाजा, प्रदूषण का स्तर एक बार फिर बढ़ गया है। सोमवार को नोएडा और ग्रेटर नोएडा का एयर क्वालिटी इंडेक्स खराब श्रेणी में दर्ज किया गया। रविवार को यह मध्यम श्रेणी में था। मंगलवार को प्रदूषण का स्तर और ज्यादा खराब रिपोर्ट किया गया है। पिछले 3 दिनों से बेहद कम वक्त के लिए धूप निकल रही है। जिसकी वजह से लोगों को ठंड से निजात नहीं मिल रही है। अगले 10 दिनों तक हालात ऐसे ही बने रहेंगे। अगर वायु प्रदूषण की बात करें तो मंगलवार की दोपहर बाद 4:00 बजे नोएडा में एयर क्वालिटी इंडेक्स 224 और ग्रेटर नोएडा में 220 दर्ज किया गया है। यह खराब श्रेणी में है।
Image
बुजुर्ग और बच्चे रहें सावधान
चिकित्सकों का सुझाव है कि बुजुर्गों और बच्चों को इस मौसम में एहतियात बरतने की जरूरत है। एक तरफ भीषण ठंड पड़ रही है और दूसरी तरफ हवा में प्रदूषण बहुत ज्यादा है। जिससे दोहरा नुकसान उठाना पड़ सकता है। लिहाजा, घर में ही रहें और बिना वजह घर से बाहर नहीं निकलें। फिजिशियन डॉक्टर प्रोमिला बैठा का कहना है कि परिवार के बड़े लोग बच्चों को बिना वजह घर से बाहर नहीं निकलने दें। पर्याप्त कपड़े पहन कर ही बुजुर्ग घर से बाहर निकलें। इस मौसम में सुबह के वक्त वॉक करना भी ज्यादा फायदेमंद नहीं है। डॉक्टर का कहना है कि हो सके तो घर में ही चल फिरकर शरीर को नियमित बनाए रखें।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.