गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में थाईलैंड और रोमानिया समेत 10 विदेशी छात्रों ने आने की जताई इच्छा

अच्छी खबर : गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में थाईलैंड और रोमानिया समेत 10 विदेशी छात्रों ने आने की जताई इच्छा

गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में थाईलैंड और रोमानिया समेत 10 विदेशी छात्रों ने आने की जताई इच्छा

Google Image | Gautam Buddha University

गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय में थाईलैंड और रोमानिया समेत 10 विदेशी छात्रों ने आने की जताई इच्छा कोरोना संक्रमण के कम होते प्रकोप को देखते हुए अब शिक्षण संस्थान खुलना शुरू हो गए है। ऐसे में कासना स्थित गौतमबुद्ध यूनिवर्सिटी में नए सत्र में पढ़ाई के लिए विदेशी छात्र-छात्राओं की आने के लिए प्रकिया शुरू हो गई है। इस बार ताइवन, रोमनिया और भूटान के चार विदेशी छात्र-छात्राओं ने संस्थान आने के लिए अनुमति मांगी है। इन छात्रों को भारत आने के लिए वीजा भी मिला गया है, संक्रमण फ्लाइट न चलाने काफी दिक्कत हो रही थी। साथ ही अन्य देशों के भी इस बार 50 से अधिक छात्रों के आने की उम्मीद हैं।
  
बता दें कि बौद्ध अध्ययन में बौद्ध शिक्षा की पढ़ाई शैक्षणिक सत्र 2012-13 शुरू हुई थी। पहले ही वर्ष में 44 छात्रों का बौद्ध अध्ययन विभाग के एमए, एमफिल और पीएचडी में हुई जिसमें से 31 छात्र विदेशी छात्र थे। दो साल कोरोना संक्रमण की वजह से शिक्षा व्यवस्था में काफी बदलाव हुए है। साथ ही कई विदेशी देशो में संक्रमण का प्रकोप हुआ है, जबकि कई जगह स्थिति ठीक नहीं है।  

जीबीयू के इंटरनेशनल अफेयर के डायरेक्टर डॉ.अरविंद्र सिंह ने बताया कि कई विदेशी देशों में संक्रमण के केस कम हो रहे है और आने-जाने के लिए फ्लाइट भी खुल गई है। जबकि कई देशों की स्थिति वैसी है। नए शैक्षणिक सत्र के लिए ताइवन, भूटान और रोमनिया के चार छात्र-छात्राों ने भारत पढ़ाई के लिए आने के लिए सहमति जताई है। इसके अलावा वीयट्नाम, म्यांमार, श्रीलंका, थाईलैंड, कम्बोडिया, लाओस, इत्यादि देशों से विदेशी छात्रों के यूनिवर्सिटी में आने के लिए आवेदन किए है। लगभग 50 से 60  विदेशी छात्रों के नामांकन होने की उम्मीद कर रहे है। 

उनका कहना है कि बौद्ध अध्ययन विभाग के लिए नामांकन शुरू हो चुके है। अब तक विदेशी छात्रों का रुझान हाल फिलहाल के दिनों में थोड़ी बढी है। आने की उम्मीद है लेकिन यह सब कोविड महामारी और उससे सम्बंधित यात्रा प्रतिबंध और उसमें होने वाली छूट पर निर्भर करती है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.