चिंताजनक: गौतमबुद्ध नगर में कोरोना से महज 2 हफ्ते में गई 100 लोगों की जान, महामारी की पहली लहर में लगा था करीब एक साल का समय, पढ़ें खास रिपोर्ट

गौतमबुद्ध नगर में कोरोना से महज 2 हफ्ते में गई 100 लोगों की जान, महामारी की पहली लहर में लगा था करीब एक साल का समय, पढ़ें खास रिपोर्ट

Google Image | गौतमबुद्ध नगर में कोरोना से महज 2 हफ्तों में गई 100 लोगों की जान

  • कोरोना की पहली लहर में जनपद में मौत के पहले 100 मामले 343 दिन में सामने आए थे
  • जबकि अगले 100 मामले सिर्फ 13 दिन में ही सामने आ चुके हैं
  • मई के तीन दिन में ही 30 से ज्यादा मरीजों की मौत हो चुकी है
  • 3 मई की सुबह तक जिले में कोविड-19 से 250 लोगों की मौत हो चुकी है
  • कोरोना संक्रमण से मौत का पहला मामला 8 मई 2020 को सामने आया था
गौतमबुद्ध नगर में कोविड संक्रमण की वजह से हालात दिनोंदिन बिगड़ते जा रहे हैं। अप्रैल के आखिरी तीन हफ्तों ने इस जिले की बुनियादी स्वास्थ्य व्यवस्था को चरमरा दिया है। मौतों का सिलसिला लगातार जारी है। कोरोना की पहली लहर में जनपद में मौत के पहले 100 मामले 343 दिन में सामने आए थे। जबकि अगले 100 मामले सिर्फ 13 दिन में ही सामने आ चुके हैं। आधिकारिक आंकड़ों के अध्ययन से इसका पता चला है। मई के तीन दिन में ही 30 से ज्यादा मरीजों की मौत हो चुकी है। जबकि पिछले एक हफ्ते के आंकड़ें जारी रहे, तो मई के आखिर तक मृतकों की संख्या से दिल दहल जाएगा।

दिल्ली से सटे वेस्ट यूपी का प्रमुख और यूपी का सबसे समृद्ध जिला गौतमबुद्ध नगर कोरोना से गंभीर रूप से प्रभावित जनपदों में से एक है। सोमवार, 3 मई की सुबह तक जिले में कोविड-19 से 250 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि शहर के विभिन्न अस्पतालों और क्वारंटीन सेंटर में 8099 सक्रिय मरीजों का उपचार चल रहा है। हालांकि बुनियादी स्वास्थ्य ढांचा बिगड़ने से हालात बेकाबू हैं। अस्पतालों में बेड नहीं मिल रहा। बेड है तो ऑक्सीजन की कमी है। मौतें रुकने का नाम नहीं ले रहीं। जिला स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक यहां कोरोना संक्रमण से मौत का पहला मामला 8 मई 2020 को सामने आया था। उक्त तिथि को नोएडा के सेक्टर-22 में रहने वाले एक 60 वर्षीय व्यक्ति ने दम तोड़ दिया था। 

उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य विभाग ने इसी महीने 16 अप्रैल को जिलेवार आंकड़ा पेश किया था। इसके मुताबिक बीते 16 अप्रैल को गौतमबुद्ध नगर में 2 संक्रमितों की जान गई थी और कुल आंकड़ा 100 तक पहुंचा था। लेकिन कोरोना की दूसरी लहर ने इस जिले को संभलने का मौका नहीं दिया। दूसरी लहर से बुरी तरह प्रभावित गौतमबुद्ध नगर में मौत के अगले 100 मामले सिर्फ दो हफ्ते में सामने आए। महामारी के चलते शनिवार तक उत्तर प्रदेश में 13162 लोग कोरोना के चलते काल के गाल में समा चुके हैं। जबकि देशभर में कोरोना ने 2.15 लाख लोगों की जान ली है।

आज 13 लोगों की गई जान, 1400 से ज्यादा बीमार
गौतमबुद्ध नगर में कोरोना का कहर जारी है। संक्रमण का असर गहरा है कि अब रोजाना नए मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। सोमवार की सुबह तक कोरोना वायरस से संक्रमित तेरह लोगों की मौत हो गई। जबकि आज सुबह तक 1438 लोग कोरोना से ग्रसित पाए गए। हालांकि पिछले 24 घंटे के दौरान 1712 लोगों को ठीक के बाद विभिन्न अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई है। आज हुई मौतों के साथ जनपद में कोविड-19 से मरने वाले लोगों की कुल संख्या 250 हो गई है। 

जिला निगरानी अधिकारी डॉक्टर सुनील दोहरे ने बताया कि सोमवार को कोरोना वायरस से संक्रमित 1438 नए मरीज पाए गए हैं। जिले के विभिन्न अस्पतालों, होम आइसोलेश और क्वारंटीन सेंटर में 8099 मरीजों का उपचार चल रहा है। जिला निगरानी अधिकारी ने बताया कि अब तक जनपद में 3756 मरीज उपचार के बाद ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि आज मिले संक्रमितों को कोविड अस्पतालों और क्वारंटीन सेंटर में भेजा जा रहा है। जनपद में विगत कुछ दिनों में कोरोना वायरस के संक्रमण में भयंकर तेजी आई है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.