गांवों और सेक्टरों में 53 विकास कार्यों पर खर्च होंगे 93 करोड़ रुपए, ग्रेटर नोएडा वेस्ट का प्रवेश द्वार होगा दुरुस्त

ग्रेटर नोएडा वासियों के लिए अच्छी खबर : गांवों और सेक्टरों में 53 विकास कार्यों पर खर्च होंगे 93 करोड़ रुपए, ग्रेटर नोएडा वेस्ट का प्रवेश द्वार होगा दुरुस्त

गांवों और सेक्टरों में 53 विकास कार्यों पर खर्च होंगे 93 करोड़ रुपए, ग्रेटर नोएडा वेस्ट का प्रवेश द्वार होगा दुरुस्त

Tricity Today | Pari chowk

गांवों और सेक्टरों में 53 विकास कार्यों पर खर्च होंगे 93 करोड़ रुपए, ग्रेटर नोएडा वेस्ट का प्रवेश द्वार होगा दुरुस्त
  • हल्दौनी मोड़ पर जलभराव की समस्या भी जल्द होगी दूर
  • 8 स्मार्ट विलेज पर होंगे काम, तीन एफओबी भी जल्द बनेंगे
  • टिगरी गोलचक्कर से ग्रेटर नोएडा वेस्ट का प्रवेश द्वार भी होगा दुरुस्त
  • ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने निकाले टेंडर, दो माह में काम शुरू होंगे
     
Greater Noida News : ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने रखरखाव और विकास कार्यों की गति तेज कर दी है। प्राधिकरण ने गांवों व सेक्टरों के रखरखाव व विकास से जुड़े 56 कार्यों के लिए लगभग 93 करोड़ रुपये के टेंडर निकाले हैं। इन कार्यों में हल्दौनी मोड़ पर बारिश के दौरान जलभराव की समस्या का समाधान के साथ ही 8 स्मार्ट विलेज को विकसित करने, तीन एफओबी बनाने और टिगरी गोलचक्कर से ग्रेटर नोएडा वेस्ट के प्रवेश द्वार को दुरुस्त करने आदि कार्य शमिल हैं। 

56 कार्यों के लिए 93 करोड़ रुपये खर्च होंगे 
ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ सुरेन्द्र सिंह ने सेक्टरों और गांवों के रखरखाव विकास से जुड़े कार्यों को प्राथमिकता पर तेजी से कराने के निर्देश दिए हैं। इसे देखते हुए परियोजना विभाग ने 56 कार्यों के लिए लगभग 93 करोड़ रुपये के टेंडर निकाले हैं। प्राधिकरण सूरजपुर-कासना रोड पर कलेक्ट्रेट के सामने, जगत फार्म और ईशान इंस्टीट्यूट के सामने व कैलाश अस्पताल के सामने  फुटओवर ब्रिज (एफओबी) बनाना चाह रहा है। अब तक बीओटी ( बिल्ट ऑपरेट एंड ट्रांसफर) के आधार पर बनाना चाह रहा था, लेकिन कंपनियों के न आने के कारण अब खुद से बनाने का निर्णय लिया है। प्राधिकरण ने इन तीनों एफओबी के लिए फिर से टेंडर निकाले हैं। 

7 गांवों को स्मार्ट विलेज बनाने के लिए टेंडर निकाले
ग्रेटर नोएडा के 7 गांवों को स्मार्ट विलेज बनाने के लिए भी टेंडर निकाले गए हैं। इनमें युसुफपुर चक शाहबेरी, अमीनाबाद उर्फ मियाना, चिपियाना खुर्द उर्फ तिगरी, चीरसी, अस्तौली, सिरसा, छपरौला, सादुल्लापुर और जलपुरा शामिल हैं। ग्रेटर नोएडा स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में सिंथेटिक एथलेटिक्स ट्रैक लगाने और पांच साल तक रखरखाव के लिए 1.27 करोड़ रुपये का टेंडर जारी किए गए हैं। 

हल्दौनी मोड़ पर जलभराव की समस्या होगी ठीक
बारिश के समय में हल्दौनी मोड़ के आसपास जलभराव हो जाता है, जिससे आवाजाही भी बाधित होती है। प्राधिकरण ने हल्दौनी मोड़ से हिंडन तक आरसीसी ड्रेन बनाने का निर्णय लिया है। परियोजना विभाग ने इसके लिए भी टेंडर जारी कर दिए हैं। इस पर करीब 5.05 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। टिगरी रोटरी के पास 60 मीटर चौड़ी रोड पर प्रवेश द्वार का मरम्मत कर और सुंदर बनाया जाएगा। अलग-अलग गांवों में छह फीसदी प्लॉटों के लिए पाइपलाइन का तीन वर्षों तक मेनटेन करने पर 2.38 करोड़ रुपये खर्च होंगे। 

भनौता गांव में 44 लाख रुपये खर्च होंगे
भनौता गांव में आरसीसी ड्रेन का निर्माण करने के लिए भी टेंडर जारी किए गए हैं। इस पर करीब 44 लाख रुपये खर्च होंगे। सेक्टर अल्फा वन कॉमर्शियल बेल्ट का तीन वर्षों तक रखरखाव के लिए भी टेेंडर जारी कर दिए गए हैं। सेक्टर ईटा वन के स्टाफ क्वार्टर के मरम्मत के कार्य जल्द कराने के लिए भी टेंडर निकाले गए हैं। इसके अलावा प्राधिकरण ने ग्रेटर नोएडा वेस्ट के टेकजोन फोर के ग्रीन बेल्ट में 6000 वर्ग मीटर एरिया में नर्सरी के आवंटन की स्कीम निकाली है। 13 मई से इसमें आवेदन कर सकते हैं। प्री क्वालीफिकेशन बिड खुलने की अंतिम तिथि 26 मई है। प्राधिकरण के महाप्रबंधक परियोजना एके अरोड़ा ने टेंडर प्रक्रिया को शीघ्र पूरा कर इन कार्यों को शुरू कराने की बात कही है।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.