करंट लगने से गाय की मौत, लोगों ने प्राधिकरण और एनपीसीएल को बताया जिम्मेदार

Greater Noida : करंट लगने से गाय की मौत, लोगों ने प्राधिकरण और एनपीसीएल को बताया जिम्मेदार

करंट लगने से गाय की मौत, लोगों ने प्राधिकरण और एनपीसीएल को बताया जिम्मेदार

Tricity Today | Cow

करंट लगने से गाय की मौत, लोगों ने प्राधिकरण और एनपीसीएल को बताया जिम्मेदार Greater Noida : ग्रेटर नोएडा शहर में बीती रात को करंट लगने के कारण एक गाय की मौत हो गई। शहर के लोगों ने इस हादसे का मुख्य कारण ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी और एनपीसीएल को बताया है। लोगों का कहना है कि अथॉरिटी और एनपीसीएल की लापरवाही से गाय की मौत हुई है। वहीं, ग्रेटर नोएडा शहर के एक सेक्टर में बारिश के कारण सीवर लाइन, ड्रेन लाइन और रोड जमीन में धंस गई। जिसमें एक गाड़ी फंस गई। लोगों ने इस हादसे का कारण भी ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी को बताया है।

शहर के बिजली पोल का बुरा हाल
शहर के एक व्यक्ति ने जानकारी देते हुए बताया कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण और एनपीसीएल के अधिकारियों को करीब 1 हफ्ते पहले अवगत करवा दिया गया था कि शहर में विभिन्न स्ट्रीट पोल को ना तो कवर किया गया और ना ही टैपिंग की गई। जिसकी वजह से कोई बड़ा हादसा हो सकता है। लोगों ने प्राधिकरण और बिजली विभाग से सभी बिजली पोल को चेक करवाने के लिए अधिकारियों से अपील की थी, लेकिन उसके बावजूद भी किसी ने ध्यान नहीं दिया।

पोल की वजह से आया करंट और हुई गाय की मौत
अब प्राधिकरण और बिजली विभाग के अफसरों की लापरवाही से एक गाय की मौत हो गई है। ग्रेटर नोएडा के सेक्टर-36 में एक पोल में करंट आ गया, जिसकी वजह से गाय की मौत हो गई। इस मामले में शहर के लोगों में काफी रोष है। लोगों का कहना है कि बारिश का मौसम होने के कारण पोल में करंट आ जाता है, जिसकी वजह से हादसा होने की आशंका काफी ज्यादा बढ़ जाती है। इसकी जानकारी पहले ही प्राधिकरण और बिजली विभाग को दे दी गई थी। उसके बावजूद भी अधिकारी गहरी नींद में सोते रहे और एक गाय की मौत हो गई।

ड्रेन लाइन में फंस गई गाड़ी
वहीं, दूसरा मामला ग्रेटर नोएडा के बीटा-1 सेक्टर का है। जहां पर तेज बारिश के कारण ड्रेन लाइन जमीन में धंस गई। जिसकी वजह से एक गाड़ी भी उसके अंदर फंस गई। लोगों का कहना है कि बारिश के बाद प्राधिकरण के अधिकारियों की लापरवाही सामने आने लगी है। शहर के लोगों को पता चले लगा है कि प्राधिकरण ने कितनी मिलावट से काम करवाया है।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.