BIG NEWS : दादरी पुलिस ने बड़े जनप्रतिधि का रिश्तेदार मुठभेड़ में पकड़ा, नेताजी की भूमिका पर उठ रहे सवाल

दादरी पुलिस ने बड़े जनप्रतिधि का रिश्तेदार मुठभेड़ में पकड़ा, नेताजी की भूमिका पर उठ रहे सवाल

Tricity Today | पुलिस की गिरफ्त में तीनों बदमाश

दादरी में जीटी रोड पर लुहारली गांव के पास ब्रेजा कार सवार बदमाशों को पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान अरेस्ट किया है। पुलिस ने बताया कि कार सवार लोगों को रुकने का इशारा किया था, लेकिन बदमाशों ने कार की स्पीड तेज करके भागने की कोशिश की। पुलिस ने घेराबंदी करके बदमाशों को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया है। बदमाशों के कब्जे से अवैध हथियार भी बरामद हुए हैं। इस मामले में एक जनप्रतिधि की भूमिका पर सवाल खड़े हो रहे हैं। जानकारी मिली है कि जनप्रतिधि और उसके बेटे के संरक्षण में अपराधियों का गैंग काम कर रहा है। इस मुठभेड़ में गिरफ्तार बदमाश का बड़ा भाई एक हत्याकांड का आरोपी है और जेल में बन्द है। ये दोनों युवक जनप्रतिधि के भांजे हैं। हत्याकांड में भी इस जनप्रतिधि की भूमिका संदिग्ध है और केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जांच का आदेश दिया है।

पुलिस के मुताबिक, सोमवार की रात दादरी पुलिस की टीम गणतंत्र दिवस के मौके पर वाहनों की चेकिंग कर रही थी। इस दौरान एक गाड़ी पुलिस को दिखाई दी। पुलिस ने गाड़ी को रोकने का इशारा किया तो बदमाशों ने गाड़ी की स्पीड और तेज कर ली। पुलिस की टीम ने घेराबंदी करके लुहारली गांव के पास बदमाशों को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया है। इन बदमाशों की पहचान लुहारली गांव के निवासी सोनू, विपिन और वरुण भाटी के रूप में हुई है। मुठभेड़ में गिरफ्तार वरुण भाटी एक बड़े जनप्रतिधि का रिश्तेदार है। जनप्रतिधि कि बहन इस आरोपी की चाची है। मतलब, युवक और नेताजी मामा-भांजा हैं। दोनों के तमाम फोटो सोशल मीडिया पर देखे जा सकते हैं। चुनाव प्रचार से लेकर कार्यक्रमों में दोनों को साथ खड़े देखा जा सकता है। पुलिस ने बताया कि वरुण भाटी पहले भी कई मामलों में जेल जा चुका है। पुलिस की रिपोर्ट के अनुसार वरुण भाटी टोल प्लाजा पर अपने बदमाश साथियों के साथ मिलकर अवैध वसूली करता है। सोमवार की रात वरुण भाटी ने अपने साथियों के साथ मिलकर एक चाय वाले को महज 12 रुपए की पानी की बोतल के लिए पीटा था।

नेताजी का भांजों को खुला संरक्षण

आरोप है कि सोमवार की शाम करीब 4 बजे ये तीनों बदमाश आये और शराब पीने के लिए एक दुकान से पानी की बोतल मांगने लगे। वरुण भाटी ने पानी की बोतल के 12 रुपए नहीं दिए। रुपए मांगने पर वरुण भाटी ने दुकानदार को बुरी तरह पीटा है। पुलिस ने बताया कि इन बदमाशों पर दर्जनभर मुकदमे दर्ज हैं। दादरी इलाके के गांवों में नेताजी के भांजों का आतंक है। लोगों का कहना है कि इस जनप्रतिनिधि के दबाव के चलते पुलिस कार्रवाई करने से बचती है। लुहारली गांव के इंजीनियर और फिर उसके चाचा की हत्या का आरोप नेताजी और उसके भांजों पर है। पीड़ित परिवार का कहना है कि मामले की सही तरह से जांच नहीं की गई। नेताजी को बचाने के लिए जांच में गड़बड़ी की गई है। परिवार न्याय मांगने के लिए केंद्र और राज्य सरकार को लगातार पत्र लिख रहा है। हाल ही में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से भी परिजनों ने मुलाकात की थी। जिसके बाद रक्षा मंत्री की चिट्ठी पर गृह मंत्रालय ने उत्तर प्रदेश सरकार और गौतमबुद्ध नगर पुलिस को मामले में गहराई से जांच करने का आदेश दिया है।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.