संगीनों के साये में कोर्ट से प्रेमी के घर विदा हुई स्वाति नागर, अपने परिवार पर नहीं भरोसा

Greater Noida Breaking : संगीनों के साये में कोर्ट से प्रेमी के घर विदा हुई स्वाति नागर, अपने परिवार पर नहीं भरोसा

संगीनों के साये में कोर्ट से प्रेमी के घर विदा हुई स्वाति नागर, अपने परिवार पर नहीं भरोसा

Tricity Today | प्रेमी के घर के लिए विदा हुई ग्रेटर नोएडा की बेटी

संगीनों के साये में कोर्ट से प्रेमी के घर विदा हुई स्वाति नागर, अपने परिवार पर नहीं भरोसा
  • गोंडा से प्रेमी के साथ लौटी छात्रा को पुलिस ने कोर्ट में किया पेश
  • छात्रा ने जान का खतरा बताते हुए परिजनों के पास रहने से किया इंकार
  • छात्रा की मर्ज़ी पर कोर्ट ने उसे प्रेमी के साथ सकुशल गोंडा पहुंचाने के पुलिस को दिये आदेश 
Greater Noida: कोतवाली बादलपुर क्षेत्र के सादोपुर गांव में रहने वाली छात्रा स्वाति बैसोया बुधवार को अपने घर से प्रेमी अनिमेष तिवारी के साथ जनपद गोंडा स्थित उसके घर चली गई थी। जांच के दौरान पुलिस ने लड़की को उसके प्रेमी के साथ शुक्रवार को गोंडा से बरामद किया था। पुलिस ने शनिवार को ग्रेटर नोएडा पहुंच कर उसे न्यायालय में पेश किया। कोर्ट में 164 सीआरपीसी के बयान के दौरान छात्रा ने परिजनों से जान का खतरा बताते हुए उनके पास रहने का इंकार कर दिया। इस पर न्यायालय ने कोतवाली बादलपुर पुलिस को आदेश दिया कि वह छात्रा को उसके प्रेमी के साथ सकुशल उसके घर गोंडा पहुंचा कर आये। शनिवार शाम पुलिस छात्रा को उसके प्रेमी के साथ संगीनों के साये में लेकर रवाना हो गई।

ग्रेटर नोएडा के सादोपुर गांव की रहने वाली स्वाति बैसोया (20 वर्ष) बुधवार 15 सितंबर को प्रेमी अनिमेष तिवारी के साथ अपनी मर्ज़ी से जनपद गोंडा स्थित उसके घर चली गई थी। इसके बाद उसके परिजनों ने इस मामले में गुरुवार सुबह छात्रा के अपहरण का नाटक करते हुए पुलिस को झूठी सूचना देते हुए एफआईआर दर्ज करवाई थी। इस दौरान विरोध प्रदर्शन करते हुए परिजनों के साथ ग्रामीणों ने Nh-91 हाईवे पर जाम लगाकर काफी देर तक हंगामा किया था, जिससे स्थिति तनावपूर्ण हो गई थी। इस दौरान दादरी विधायक तेज पाल नागर और राज्यसभा सांसद सुरेंद्र नागर भी मौके पर पहुंचे थे और पुलिस पर मामले का जल्द खुलासे का दबाव बनाया था।

एडीसीपी सेंट्रल नोएडा अंकुर अग्रवाल ने बताया कि कोतवाली बादलपुर पुलिस ने 24 घंटे में मामले का खुलासा करते हुए लापता छात्रा स्वाति को उसके प्रेमी अनिमेष के साथ जनपद गोंडा में उसे घर से बरामद किया था। शुक्रवार शाम कोतवाली बादलपुर पुलिस गोंडा पुलिस के साथ छात्रा को लेकर शनिवार सुबह ग्रेटर नोएडा पहुंची थी जहां उसे मेडिकल परीक्षण के बाद न्यायालय में पेश किया गया। न्यायालय में 164 सीआरपीसी के बयान के दौरान छात्रा ने अपनी जान का खतरा बताते हुए परिजनों के पास रहने से इंकार कर दिया। इस पर कोर्ट ने कोतवाली बादलपुर पुलिस को आदेश देते हुए कहा की छात्रा बालिग है और वह अपनी मर्जी से रहने को स्वतंत्र है। इसलिए उसकी मर्जी के अनुसार उसे उसके प्रेमी के साथ जनपद गोंडा सकुशल पहुंचाया जाए। इस पर पुलिस फोर्स के साथ शनिवार शाम छात्रा स्वाति और उसके प्रेमी अनिमेष को लेकर बादलपुर पुलिस रवाना हो गई।

18 नामजद समेत 150 लोगों के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा
कोतवाली बादलपुर प्रभारी दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि सादोपुर गांव में रहने वाले गुलाब सिंह ने  बताया था कि उनके 4 बच्चे गुरुवार सुबह करीब 5:30 बजे मॉर्निंग वॉक पर निकले थे। इस दौरान मारीपत रेलवे क्रॉसिंग के पास कार सवार तीन बदमाशों ने उनकी छोटी बेटी के साथ छेड़खानी की। विरोध करने पर बदमाश उनकी बड़ी बेटी स्वाति को किडनैप कर ले गए थे। मामले में छात्रा की बरामदगी को लेकर स्थानीय ग्रामीणों ने बड़ी संख्या में  इकट्ठा होकर इस नेशनल हाईवे-91 पर जाम लगा दिया था। इस दौरान भीड़ ने नारेबाजी करते हुए कई वाहनों में तोड़फोड़ करने की कोशिश की थी जिससे कानून व्यवस्था बिगड़ने की संभावना उत्पन्न हो गई थी। मौके पर पहुंची बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स ने किसी तरह स्थिति पर काबू पाया था। जांच के दौरान अपहरण की कहानी फ़र्ज़ी मिलने और छात्रा के अपनी मर्जी से प्रेमी के साथ जाने की बात सामने आई है। इस मामले में पुलिस को झूठी सूचना देने, नेशनल हाईवे जाम करने, कानून व्यवस्था की स्थिति बिगाड़ने का प्रयास करने समेत विभिन्न मामलों को लेकर पुलिस ने 18 नामजद सहित करीब 150 लोगों खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.